Bihar MLC Election: महागठबंधन और NDA की एकजुटता का इम्तिहान, जानें सीटों का समीकरण
Patna News in Hindi

Bihar MLC Election: महागठबंधन और NDA की एकजुटता का इम्तिहान, जानें सीटों का समीकरण
तेजस्वी यादव पर सीएम नीतीश कुमार ( फाइल फोटो)

बिहार विधानपरिषद (Bihar Legislative Council) की जिन 9 सीटों पर चुनाव हो रहे हैं, इनमें से 6 सीटों पर जेडीयू का कब्जा है. वहीं, 3 सीटों पर बीजेपी का.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 18, 2020, 12:15 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानपरिषद (Bihar Legislative Council) की 9 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए राज्य चुनाव आयोग (State Election Commission) के कार्यक्रम के अनुसार 18 जून यानि गुरुवार से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई. इसके लिए 6 जुलाई को मतदान होना है. कोरोना काल में होने वाला यह चुनाव इस लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण साबित होने वाला है कि महागठबंधन और एनडीए (Grand Alliance and NDA) में किस समूह में सबसे अधिक एकजुटता है. दरअसल, 9 सीटों के लिए होने वाले एमएलसी के इस चुनाव में सीटों और मतदाताओं का समीकरण ही कुछ ऐसा है कि दोनों ही गठबंधनों की एकता की भी परख हो जाएगी.

बता दें कि विधानपरिषद की जिन 9 सीटों पर चुनाव हो रहे हैं, इनमें से 6 सीटों पर जेडीयू का कब्जा है. वहीं, 3 सीटों पर बीजेपी का. लेकिन, इस बार के चुनाव में समीकरण कुछ ऐसे बने हैं कि इन दोनों ही दलों की सीटें कम हो जाएंगी. दूसरी ओर लालू यादव की आरजेडी और कांग्रेस को इस में फायदा हो सकता है. यही वजह है कि एनडीए की एकजुटता के लिए यह चुनाव जहां महत्वपूर्ण साबित होगा, वहीं आरजेडी और कांग्रेस की एकता की भी परीक्षा हो जाएगी.

ये है सीटों का समीकरण
बता दें कि विधानसभा सदस्यों की संख्या के आधार पर एमएलसी की 9 सीटें चुनी जानी हैं. बिहार के कुल 243 विधानसभा सीटों में एनडीए में जेडीयू के 70, बीजेपी के 54 और एलजेपी के दो विधानसभा सदस्य हैं. वहीं, महागठबंधन में आरजेडी के 80 और कांग्रेस के 26 विधायक हैं. इसके अलावा 11 सीटें दूसरे दलों के पास हैं.
किसके पास कितने विधायक


वर्तमान में विधानपरिषद की एक सीट के लिए 27 विधायकों का समर्थन चाहिए. अगर इसको सीटों के गणित में फिट करें तो आरजेडी के तीन और कांग्रेस के खाते में एक सीट जाती दिख रही है. दूसरी ओर जेडीयू एलजेपी के समर्थन से तीन सीटें जीत सकती है. वहीं, एक सीट निर्दलीय विधायकों के समर्थन से अपने खाते में कर सकती है.

हो सकती है सेंधमारी
वहीं, बीजेपी अपने ही विधायकों के समर्मथन से दो सीटें जीत सकती है. जाहिर है जेडीयू को तीन तो बीजेपी को एक सीट गंवानी पड़ेगी. आरजेडी और कांग्रेस फायदे में रहेगी. हालांकि, कुछ जानकार मानते हैं कि एक तरह से यह दोनों ही दलों की एकजुटता की परीक्षा है, क्योंकि दोनों ही ओर से सेंधमारी के भी प्रयास हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें

'संकटमोचक दोस्त' रघुवंश बाबू की बीमारी से परेशान हुए लालू, बेचैनी से रात में नहीं आई नींद!

Bihar Election: विधानपरिषद की 9 सीटों के लिए नामांकन आज से, कोरोना संकट में इस नियम से होगा चुनाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading