लाइव टीवी

बिहार विधानसभा का आज से मॉनसून सत्र, चमकी बुखार और लॉ एंड ऑर्डर पर घेरेगा विपक्ष
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: June 28, 2019, 7:41 AM IST
बिहार विधानसभा का आज से मॉनसून सत्र, चमकी बुखार और लॉ एंड ऑर्डर पर घेरेगा विपक्ष
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव की महीने भर का अज्ञातवास विपक्ष की धार को कमजोर करने के लिए काफी है. सबसे बड़ा सवाल है कि क्या विपक्ष एकजुट होकर सरकार की नीतियों की आलोचना कर पाएगा?

  • Share this:
बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र आज से शुरू हो रहा है जो 26 जुलाई तक चलेगा. कुल 21 बैठकोें के लिए निर्धारित यह सत्र हंगामेदार रहने की संभावना है. दरअसल, लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत के बाद भी एनडीए सरकार चमकी बुखार और नीति आयोग की रिपोर्ट में स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में बिहार को फिसड्डी राज्यों में रहने के मामलों पर विपक्ष राज्य सरकार को घेरने की तैयारी में है. दूसरी ओर बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर भी विपक्ष आक्रामक है. वहीं, सत्ता पक्ष बैकफुट पर नजर आ रहा है.

हालांकि, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव की महीने भर का अज्ञातवास विपक्ष की धार को कमजोर करने के लिए काफी है. सबसे बड़ा सवाल है कि क्या विपक्ष एकजुट होकर सरकार की नीतियों की आलोचना कर पाएगा? मानसून सत्र को लेकर विधानमंडल के पास धारा 144 लगा दी गई है और सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम किए गए हैं. घुड़सवार दल समेत भारी संख्या में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है.

172 मासूमों की मौत बनेगा मुद्दा
आरजेडी समेत अन्य विपक्षी दलों ने सत्ता पक्ष पर हमले भी शुरू कर दिए हैं. इन्सेफेलाइटिस से 172 बच्चों की मौत को विपक्ष प्रमुख मुद्दा बनाने जा रहा है. आरजेडी ने सरकार को चुनौती देते हुए कह भी दिया है कि सत्ता पक्ष से सवाल पूछे जाएंगे और वह जवाब देने के लिए तैयार रहे.



RJD ने बनाई विशेष रणनीति
माना जा रहा है कि बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सत्र में रहेंगे और मजबूती से अपनी बात भी रखेंगे. प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि चमकी बुखार समेत विभिन्न मुद्दों पर राज्य सरकार विफल रही है. हमलोग पूरी ताकत से सदन में राज्य सरकार की विफलताओं को रखेंगे.

कानून-व्यवस्था भी रहेगा मुद्दा
बिहार में लगातार बढ़ रहे अपराध के ग्राफ के बीच मानसून सत्र में कानून-व्यवस्था का मुद्दा भी सत्ता पक्ष पर भारी पड़ने वाला है. दरअसल, हत्या और लूट की बढ़ती वारदातों के बीच बीते 20 दिन में सीएम नीतीश पुलिस महकमे की दो बार बैठक बुला चुके हैं, लेकिन हालात संभल नहीं रहे हैं. जाहिर है विपक्ष इस मुद्दे को लेकर भी हमलावर मुद्रा में है.

जेडीयू ने बनाई जवाबी रणनीति
वहीं, सत्ता पक्ष एनडीए विपक्ष का सामना करने की रणनीति बना रहा है. वह यह दलील दे रहा है कि चमकी बीमारी कोई नई नहीं है. इस पर काम किए गए हैं और जितने बच्चों की मौत हुई उससे अधिक बच्चे बचाए गए हैं. वहीं बिहार सरकार राज्य में हुए विकास कार्यों को रखते हुए विपक्ष को करारा जवाब देने की तैयारी में
है.

आज JDU, 1 जुलाई को NDA विधानमंडल दल की बैठक
सरकार के कार्यों को प्रमुखता से रखने और विपक्ष के सवालों का जवाब देने से संबंधित विचार-विमर्श करने के लिए जेडीयू ने विधानमंडल दल की बैठक आज को शाम छह बजे सात पोलो रोड में बुलायी है. वहीं, एनडीए विधानमंडल दल की बैठक एक जुलाई को मुख्यमंत्री आवास एक अणे मार्ग में होगी.

संसदीय कार्यमंत्री ने की अपील
सत्र को लेकर संसदीय कार्य और ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने विपक्ष के सभी विधायकों और विधान पार्षदों से आग्रह किया है कि वे सदन में उपस्थित रह कर सरकार की नीतियों एवं कार्यक्रमों के संबंध में अपना समालोचनात्मक विचार रखें. सदन के संचालन में सकारात्मक सहयोग दें.

ये भी पढ़ें-

JDU नेता का CM नीतीश पर तंज- 'क्या मुस्लिम महिलाएं दूसरे ग्रह से आई हैं?'

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को खून से लिखे खत-'आप हैं तो हम हैं'

बोले कुशवाहा-आत्मा झकझोरती तो इस्तीफा दे देते CM नीतीश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 27, 2019, 5:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर