Home /News /bihar /

महागठबंधन में रार : कुशवाहा बोले- तेजप्रताप-तेजस्वी विवाद से नहीं हुआ नुकसान

महागठबंधन में रार : कुशवाहा बोले- तेजप्रताप-तेजस्वी विवाद से नहीं हुआ नुकसान

उपेन्द्र कुशवाहा (फाइल फोटो)

उपेन्द्र कुशवाहा (फाइल फोटो)

आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा था कि लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव और बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के बीच के विवाद के कारण पार्टी को भारी नुकसान हुआ है. तेजप्रताप के विरुद्ध पार्टी को कार्रवाई करनी चाहिए.

    बिहार में आरजेडी और महागठबंधन की हार पर पार्टी और अलायंस दोनों में रार है. आरजेडी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के बयान के उलट आरएलएसपी प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने इस हार के लिए तेजस्वी और तेजप्रताप विवाद को कोई कारण नहीं माना है. उन्होंने कहा कि तेजस्वी और तेजप्रताप के निजी विवाद से महागठबंधन को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. तेजप्रताप पर कार्रवाई की रघुवंश सिंह की मांग को भी उन्होंने खारिज करते हुए कहा कि यह पार्टी का निजी मामला है.

    बता दें कि आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने न्यूज 18 से बात करते हुए कहा कि लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव और बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के बीच के विवाद के कारण पार्टी को भारी नुकसान हुआ है. तेजप्रताप के विरुद्ध पार्टी को कार्रवाई करनी चाहिए.

    ये भी पढ़ें- ताबड़तोड़ वारदातों से थर्राया बिहार, बेगूसराय में दिनदहाड़े व्यवसायी का अपहरण

    महागठबंधन की हार पर उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि सभी को हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए और मैं भी जिम्मेदारी लेता हूं.  उन्होंने कहा कि महागठबंधन को रणनीति बदलने की जरूरत है.

    कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन के लोग परेशान नहीं हों. लोकसभा और विधानसभा चुनाव में बहुत अंतर होता है. महागठबंधन के लोग बैठकर कमियों को दूर करेंगे. 2020 में फिर से महागठबंधन सत्ता में वापस आएगा.

    ये भी पढ़ें- बिहार: 'खामोश' तेजप्रताप यादव क्या करने वाले हैं?

    Tags: Bihar News, Lalu Prasad Yadav, Misha bharti, Raguvansh Prasad Singh, RJD, Tejaswi yadav, Tejpratap yadav, Upendra kushwaha

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर