Home /News /bihar /

bihar minister shahnawaz hussain justifies recitation of rashtragan in madarsas of uttar pradesh nodmk8

UP के मदरसों में राष्ट्रगान जरूरी होने पर शाहनवाज हुसैन बोले- इसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं

शाहनवाज हुसैन ने कहा कि मैंने खुद एक मदरसे में पढ़ाई की है. वहां हम खुशी-खुशी और स्वेच्छा से राष्ट्रगान का पाठ करते थे. राष्ट्र के प्रति श्रद्धा दिखाने में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं हो सकता है (फाइल फोटो)

शाहनवाज हुसैन ने कहा कि मैंने खुद एक मदरसे में पढ़ाई की है. वहां हम खुशी-खुशी और स्वेच्छा से राष्ट्रगान का पाठ करते थे. राष्ट्र के प्रति श्रद्धा दिखाने में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं हो सकता है (फाइल फोटो)

Rashtragan In Madarsa Of UP: शाहनवाज हुसैन ने कहा कि योगी सरकार के द्वारा पूरे उत्तर प्रदेश के मदरसों में राष्ट्रगान को अनिवार्य करने के आदेश में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है. उन्होंने यह भी दावा किया कि जिस मदरसे में उन्होंने खुद अध्ययन किया था वहां ‘जन गण मन’ खुशी से गाया जाता था

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार के उद्योग मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता सैयद शाहनवाज हुसैन (Shahnawaz Hussain) ने कहा कि योगी सरकार (Yogi Government) के द्वारा पूरे उत्तर प्रदेश के मदरसों (Uttar Pradesh Madarsa) में राष्ट्रगान को अनिवार्य करने के आदेश में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है. उन्होंने यह भी दावा किया कि जिस मदरसे में उन्होंने खुद अध्ययन किया था वहां ‘जन गण मन’ खुशी से गाया जाता था. उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड के आदेश के बारे में मीडिया के द्वारा पूछे जाने पर शाहनवाज ने कहा कि क्या अब तक उत्तर प्रदेश के मदरसों में राष्ट्रगान नहीं गाया जाता था. अगर ऐसा है तो मैं बहुत हैरान हूं.

उन्होंने कहा कि मैंने खुद एक मदरसे में पढ़ाई की है. वहां हम खुशी-खुशी और स्वेच्छा से राष्ट्रगान का पाठ करते थे. राष्ट्र के प्रति श्रद्धा दिखाने में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं हो सकता है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड के मदरसों में छात्रों के लिए कक्षाएं शुरू होने से पहले राष्ट्रगान का पाठ अनिवार्य कर दिया गया है. यह आदेश मान्यता प्राप्त, अनुदान पाने वाले और अनुदान नहीं पाने वाले सभी मदरसों पर लागू होगा. उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड के रजिस्ट्रार ने बाबत बीते नौ मई को प्रदेश के सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को पत्र भेजा था. हालांकि इस आदेश को कुछ इस्लामी विद्वानों के द्वारा अपवाद के रूप में लिया गया है जो यह दावा करते हैं कि रवींद्र नाथ टैगोर द्वारा लिखे गए उक्त कविता के शब्द उनके धार्मिक सिद्धांतों के खिलाफ है. (भाषा से इनपुट)

Tags: Bihar News in hindi, Madarsa, Shahnawaz hussain, Yogi government

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर