बिहार में ‘महाघोटाला’: मंत्री बोले- सरकार कराएगी जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाई

सुरेश शर्मा (फाइल फोटो)
सुरेश शर्मा (फाइल फोटो)

न्यूज18 ने खुलासा किया था कि सीएजी की रिपोर्ट के अनुसार मुजफ्फरपुर में साल 2011 से 2016 तक 102 करोड़ और दरभंगा में 131 करोड़ की वत्तीय अनियमितताएं हुई हैं.

  • Share this:
सृजन घोटाले के बाद बिहार में एक और घोटाला सामने आया है. इस बार मुजफ्फरपुर और दरभंगा के जिला नजारत कार्यालय से मिलीभगत के कारण वित्तीय गड़बड़ी सामने आई है. सीएजी की रिपोर्ट में दो अरब 33 करोड़ 23 लाख की अवैध निकासी का खुलासा हुआ है. वहीं, अरबों के वित्तीय अनियमितता का खुलासा न्यूज18 के द्वारा किए जाने के बाद राज्य के नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने कहा कि सीएजी की रिपोर्ट के आधार पर सरकार जांच कराएगी और जो भी आंतरिक जांच में दोषी होंगे उसके खिलाफ कार्रवाई करेगी.

मुजफ्फरपुर में न्यूज18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में मंत्री ने कहा कि सरकार सीएजी के रिपोर्ट का अध्ययन कर कार्रवाई करेगी. हालांकि वित्त विभाग द्वारा दरभंगा जिला नजारत कार्यालय में गड़बड़ी मामले में डीएम को जांच करने की बात पर कुछ भी बोलने से बचते नजर आए.

ये भी पढ़ें- बिहार में एक और ‘महाघोटाला’, सामने आई दो अरब 33 करोड़ की वित्तीय अनियमितता



वहीं, मामले का खुलासा होने पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जोरदार हमला बोला है. मांझी ने कहा कि नीतीश राज्य की तमाम ट्रेजरी को लुटवा रहे हैं. मांझी ने राज्य के राजस्व को बचाने के लिए बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है.
ये भी पढ़ें- तेजस्वी यादव से जबरन बंगला खाली करवाएगी बिहार सरकार!

हालांकि जेडीयू ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि घोटाला करने वालों को बोलने का हक नहीं है. जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा कि एक घोटाला की गोद से जन्मे तो दूसरे हमारे रहम पर मुख्यमंत्री बने, इन दोनों को बोलने का कोई हक नहीं. उन्होंने कहा कि सरकार ने मामले पर संज्ञान लिया है, जल्द दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी.

बताते चलें कि न्यूज18 ने खुलासा किया था कि सीएजी की रिपोर्ट के अनुसार मुजफ्फरपुर में साल 2011 से 2016 तक 102 करोड़ और दरभंगा में 131 करोड़ की वत्तीय अनियमितताएं हुई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज