पटना में 31 अगस्त को NDA नेता देंगे दिवंगत अरुण जेटली को श्रद्धांजलि

News18 Bihar
Updated: August 30, 2019, 1:26 PM IST
पटना में 31 अगस्त को NDA नेता देंगे दिवंगत अरुण जेटली को श्रद्धांजलि
हाल ही में अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन हो गया. उन्हें बीते 9 अगस्त को दिल्ली के एम्स में भर्ती करवाया गया था.

हाल ही में अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन हो गया. उन्हें बीते 9 अगस्त को दिल्ली के एम्स में भर्ती करवाया गया था.

  • Share this:
पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी (BJP) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) को बिहार एनडीए (Bihar NDA) की ओर से श्रद्धांजलि देने के लिए पटना श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में 31 अगस्त को सभा का आयोजन किया गया है. श्रद्धांजलि सभा में लोगों को आने के लिए बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय (Nityanand Rai), जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह (Vashishtha Narayan Singh) और लोक जनशक्ति पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस (Pashupati Kumar Paras) ने निवेदन किया है.

बता दें कि हाल ही में अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन हो गया. उन्हें बीते 9 अगस्त को दिल्ली के एम्स में भर्ती करवाया गया था.

छात्र संघ अध्यक्ष से वित्त मंत्रालय तक का सफर
1974 में छात्र राजनीति से कदम रखने वाले अरुण जेटली ने सॉलिसिटर जनरल, संयुक्त राष्ट्र, बीसीसीआई होते हुए कैबिनेट मंत्री तक का सफर तय किया. दिल्ली के सेंट जेवियर्स से जेटली की शुरुआत पढ़ाई पूरी हुई. 1969 में श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से उन्होंने ग्रेजुएशन की शिक्षा पूरी की.

1974 में उन्होंने छात्र संघ अध्यक्ष का चुनाव जीता. 1975 में इमरजेंसी के दौरान वो अंबाला और दिल्ली की जेल में रहे. उन्होंने 19 महीने तिहाड़ जेल में काटे. 1976 में लोकतांत्रिक मोर्चा के संयोजक बनाए गए. इसी साल 1980 में भारतीय जनता पार्टी के सदस्य बने. 1991 में उन्हें राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाया गया. 1998 में वो भारत की ओर से संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली के भारतीय प्रतिनिधि मंडल में शामिल हुए. 1999 में उन्होंने BCCI के वाइस प्रेसिडेंट का पद संभाला.

2000 में वो पहली बार केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाए गए. 2002 में उन्हें भारतीय जनता पार्टी का जनरल सेक्रेटरी बनाया गया.  2009 में वो राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष चुने गए. 2012 में उन्हें गुजरात से राज्य सभा में भेजा गया. 2014 में मोदी सरकार में उन्हें वित्त मंत्रालय जैसा बड़ा पद दिया गया. 2018 में वो उत्तर प्रदेश से चुनकर फिर राज्य सभा में पहुंचे. 2019 में लंबी बीमारी के बाद उनका निधन हो गया.

ये भी पढ़ें-
Loading...

बाहुबली विधायक अनंत सिंह को दो दिन की रिमांड पर लेगी पुलिस

मांझी ने फिर CM बनने की जताई इच्छा ! BJP बोली- No vacancy...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 8:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...