एक साथ पढ़ें बिहार से अब तक की पांच बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद बिहार पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है. केंद्र की एडवाइजरी के बाद पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसएसपी को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं.

News18 Bihar
Updated: August 6, 2019, 10:04 AM IST
एक साथ पढ़ें बिहार से अब तक की पांच बड़ी खबरें
बिहार भाजपा के प्रभारी भूपेंद्र यादव ने धारा 370 को खत्म करने वाले विधेयक को देश की एकता-अखंडता के लिए जरूरी बताया.
News18 Bihar
Updated: August 6, 2019, 10:04 AM IST
सोमवार को राज्यसभा में धारा 370 को समाप्त करने वाले विधेयक के समर्थन में 125 और विरोध में 61 मत पड़े. इस दौरान बहस में भाग लेते हुए बिहार भाजपा के प्रभारी भूपेंद्र यादव ने कहा कि यह संकल्प और विधेयक देश की एकता और अखंडता को सुनिश्चित करेगा. उन्होंने कहा कि यह पहल ‘सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास’ के सरकार के संकल्प की भी पूर्ति करता है.

सभी दलों को दे दी गई थी पूर्व जानकारी
प्रभात खबर लिखता है कि यादव ने कश्मीर मामले में सदन और देश को धोखे में रखकर यह फैसला करने के विपक्ष के आरोप को गलत बताते हुए कहा कि दो अगस्त को सदन की कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में भी इस विधेयक के बारे में चर्चा हुई थी. समिति में मौजूद सभी दलों के नेताओं को यह स्पष्ट हो गया था कि सोमवार को यह विधेयक पेश किया जाएगा.

अलर्ट पर बिहार पुलिस, जिलों को विशेष निर्देश

प्रभात खबर लिखता है कि केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद बिहार पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है. केंद्र की एडवाइजरी के बाद पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसएसपी को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने जिलों को भेजे निर्देश में कहा है कि जिलों में विशेष चौकसी बरती जाए. संवेदनशील स्थानों पर पुलिस टुकड़ी तैनात करने और अफवाह फैलाने वालों पर विशेष निगरानी रखने को कहा गया है.

धू-धू कर जली सिलीगुड़ी जा रही बस, एक की मौत
दैनिक जागरण लिखता है कि मुजफ्फरपुर से सिलीगुड़ी जा रही बस पूर्णिया बस पड़ाव के पास डिवाइडर से टकराने के बाद धू-धूकर जल उठी. जिससे उसमें सवार एक महिला यात्री की जलकर मौत हो गई और 17 लोग झुलस गए. इलाज के लिए सभी को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
Loading...

583 लेक्चरर और 985 प्रोफेसरों की बहाली रद्द
हिन्दुस्तान लिखता है कि राज्य के सरकारी पॉलिटेक्निक तथा इंजीनियरिंग कॉलेजों में संविदा पर व्याख्याता व सहायक प्रोफेसर के 1568 पदों पर होने वाली बहाली के विज्ञापन सहित नियुक्ति के लिए बनाए गए नियम को पटना हाईकोर्ट ने निरस्त कर दिया है. सोमवार को कोर्ट ने बहाली के लिए नए सिरे से कानून के तहत कार्रवाई करने का आदेश राज्य सरकार को दिया है.

ये भी पढ़ें-
First published: August 6, 2019, 6:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...