लाइव टीवी

बिहार: आम आदमी के आसरे अपराध कम करने में जुटी बिहार पुलिस! एक्टिव किया ये स्पेशल ग्रुप, जानें कैसे करेगा काम
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: May 23, 2020, 9:41 AM IST
बिहार: आम आदमी के आसरे अपराध कम करने में जुटी बिहार पुलिस! एक्टिव किया ये स्पेशल ग्रुप, जानें कैसे करेगा काम
जितेंद्र कुमार, ADG, बिहार पुलिस मुख्यालय

फिलहाल पूरे राज्य में 1100 से अधिक साइबर सेनानी ग्रुप (Cyber senani group) संचालित हैं और एक लाख 30 हजार से अधिक सक्रिय सदस्य इन समूहों में शामिल हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार में बढ़े अपराध के ग्राफ (Graphs of crime increase in Bihar) को कम करने के लिए पुलिस मुख्यालय (PHQ) ने एक बार फिर वर्षों तरीका अपनाया है. अब एक बार फिर आमजनों द्वारा दी जाने वाली सूचनाओं के जरिये बिहार पुलिस (Bihar Police) अपराधियों पर नकेल कसेगी. इसके लिए बिहार पुलिस मुख्यालय ने एक बार फिर सभी जोन के IG, DIG समेत सभी जिले के SP, DSP के साथ साथ सभी थाना के SHO को निर्देश जारी किया है. इसके तहत पूर्व से संचालित साइबर सेनानी ग्रुप (Cyber senani group) में सदस्यों की संख्या बढ़ाने के साथ-साथ नए साइबर सेनानी ग्रुप बनाने का आदेश जारी कर दिया है.

2018 में बना था साइबर सेनानी ग्रुप

गौरतलब है कि साइबर सेनानी ग्रुप व्हाट्सएप के माध्यम से चलने वाले इस ग्रुप का गठन बिहार में अगस्त 2018 में किया गया था. इस ग्रुप के जरिए पुलिस और पब्लिक के बीच के डिस्टेंस को कम करने की कवायद की गई थी. पहले चरण में साइबर सेनानी ग्रुप को तीन स्तर पर बनाया गया था. जिला स्तर पर एसपी. सब डिवीजन स्तर पर एसडीपीओ और थाना स्तर पर थानेदार साइबर सेनानी ग्रुप को चला रहे हैं.



ADG, PHQ ने कही ये बात



ADG, पुलिस मुख्यालय जितेंद्र कुमार बताते हैं कि इस ग्रुप की शुरुआत करने का पूरा श्रेय ADG, EOU जितेंद्र सिंह गंगवार और तत्कलीन पुलिस महानिदेशक के एस द्विवेदी को जाता है. उन्होंने ही 2018 में इसकी न सिर्फ कल्पना की बल्कि इसको हकीकत का रूप भी दिया.

पटना समेत राज्य के सभी जिले के हर थाना और DSP स्तर पर साइबर सेनानी ग्रुप बनवाया और फिर इस ग्रुप में समाज के प्रबुद्ध लोगों को जुड़वाया. इस ग्रुप के बनने के बाद पुलिस महकमें को कई अहम जानकारी और कामयाबी भी मिली. अब इसके दूसरे चरण की शुरुआत की जा रही है.

बनेंगे अलग-अलग ग्रुप

डीजीपी के आदेश पर सिपाहियों और महिलाओं के लिए अलग से साइबर सेनानी ग्रुप बनाया जाएगा. इसके लिए आर्थिक अपराध शाखा की तरफ से एक दिशा निर्देश भी तमाम जिलों के पुलिस कप्तानों को जारी कर दिया गया है. आर्थिक अपराध शाखा और स्पेंशल ब्रांच के एडीजी जितेंद्र सिंह गंगवार खुद मोर्चा संभाल रहे हैं.

EOU के ADG जितेंद्र सिंह गंगवार के अनुसार सिपाहियों और महिलाओं के लिए अलग-अलग साइबर सेनानी ग्रुप बनाये जा रहे हैं.  इन ग्रुप को समय समय पर मैसेज के जरिए इस बात को लेकर जागरूक किया जाएगा कि वो कैसे अपने आपको और अपने आसपास के लोगों को साइबर अपराध समेत अन्य आपराधिक घटनाओं से कैसे बचा सकते हैं.

अपराध की तफ्तीश में मिलेगी मदद

साथ ही साथ अगर कोई घटना उनके जानकारी में घटी है, और अगर वो उसके बाबत कुछ जानते हैं, जैसे इसके पीछे कौन है, इसकी जानकारी वो इस ग्रुप में साझा कर सकते हैं या गुप्त तरीके से आर्थिक अपराध इकाई में आकर मुझसे साझा कर सकते है. उनका नाम और पहचान गुप्त रखा जाएगा.

इतना ही नहीं ADG जी एस गंगवार यह भी बताते हैं कि सेनानी ग्रुप बनाने के लिए ये लेवल 2 की प्रक्रिया है. इसी प्रक्रिया के तहत बीएमपी जवानों के लिए भी अलग से साइबर सेनानी ग्रुप बनाया जा रहा है. एक-एक कर सभी जवानों को इस ग्रुप से जोड़ा जाएगा और उन्हें भी हर चीजों से जागरूक किया जाएगा.

यहां यह भी जानना बेहद अहम है कि फिलहाल पूरे राज्य में 1100 से अधिक साइबर सेनानी ग्रुप संचालित हैं और एक लाख 30 हजार से अधिक सक्रिय सदस्य इन समूहों में शामिल हैं.

ये भी पढ़ें


Amphan का खतरा टला तो अब Heat Wave की बारी! जानें अगले पांच दिनों में कितना चढ़ेगा बिहार का पारा




बिहार: लीची के पेड़ से लटका मिला प्रेमी जोड़े का शव, हत्या या आत्महत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी मुजफ्फरपुर पुलिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 9:41 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading