लाइव टीवी

बिहार में दंगाइयों की अब खैर नहीं, RAF की तरह तैयार हो रहा है दंगा निरोधी बल, शुरू हो गई ट्रेनिंग

Sanjay Kumar | News18 Bihar
Updated: November 21, 2019, 11:47 PM IST
बिहार में दंगाइयों की अब खैर नहीं, RAF की तरह तैयार हो रहा है दंगा निरोधी बल, शुरू हो गई ट्रेनिंग
बिहार पुलिस में दंगा निरोधी बल के गठन की कवायद शुरू हो गई है. (प्रतीकात्मक फोटो)

रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) की तर्ज पर बिहार पुलिस (Bihar Police) में दंगा निरोधी बल (Anti Riot Force) के गठन की कवायद शुरू हुई. बिहार पुलिस के चुने हुए जवानों को लेकर होगा एंटी-राइट फोर्स का गठन, महिला बटालियन समेत इस बल की 55 कंपनियां हर जिले में होंगी तैनात.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 21, 2019, 11:47 PM IST
  • Share this:
पटना. ज्यादा दिन नहीं बीते जब दंगों को लेकर NCRB यानी नेशनल क्राईम रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Records Bureau) ने अपनी रिपोर्ट में बिहार (Bihar) को देश में सबसे ज्यादा दंगा (Riot) वाला राज्य बता कर सनसनी फैला दी थी. इसी रिपोर्ट का असर है या कुछ और, दंगों से निपटने के लिए बिहार पुलिस मुख्यालय (Bihar Police Headquarter) गंभीर हो गया है. सरकार के निर्देश पर बिहार पुलिस मुख्यालय ने दंगाइयों और उपद्रवियों से निपटने के लिए राज्य में अलग से दंगा पुलिस बल (Anti Riot Force) के गठन पर काम करना शुरू कर दिया है. जल्द ही बिहार पुलिस का अपना दंगा निरोधी बल होगा. अगले साल से यह बल अस्तित्व में आ जाएगा.

शुरू हो चुकी है ट्रेनिंग
55 कंपनियों वाले दंगा निरोधी बल के लिए ट्रेनिंग शुरू हो चुकी है. एनसीआरबी की रिपोर्ट पर देशभर में हुई किरकिरी के बाद दंगाइयो से निपटने के लिए बिहार पुलिस ने तैयारी शुरू कर दी है. सरकार के निर्देश के बाद बिहार पुलिस मुख्यालय की पहल पर प्रत्येक जिले में बीएमपी और जिला पुलिस के जवानों से दंगा विरोधी बल का गठन किए जाने का प्रस्ताव है. बिहार सैन्य पुलिस के तीन बटालियन का फिलहाल इसके लिए चयन किया गया है. बटालियन 6 और 7 के अलावा बिहार सैन्य पुलिस की महिला बटालियन को भी दंगा निरोधी बल में शामिल किया गया है. एक बटालियन में 6 कंपनियां शामिल होती हैं, इस हिसाब से 18 कंपनियां दंगा निरोधी बल में शामिल की गई हैं. सभी कंपनियों को ट्रेनिंग भी दी जा रही है. ट्रेनिंग इस तरीके दी जा रही है कि थोड़ी सी सख्ती में ही यह बल हालात पर नियंत्रण कर सके.

बिहार पुलिस के दंगा निरोधी बल को RAF की तर्ज पर तैयार किया जाएगा.


वर्दी और टोपी अलग रंग की
सबसे बड़ी बात यह है कि इस बल की वर्दी और टोपी अलग रंग की होगी. बैज बिहार सैन्य पुलिस और जिला पुलिस की तरह ही होगा. अगले साल से दंगा निरोधी बल काम करने लगेगा. पटना में जहां इसकी दो कंपनियां तैनात रहेंगी, वहीं प्रदेश के अन्य जिलों में एक-एक कंपनी और छोटे जिलों में आधी कंपनी की तैनाती होगी. जिला स्तर पर गठित होनेवाले बल का चयन जिला पुलिस के जवानों से होगा. दंगा निरोधी कंपनी को सीआरपीएफ की रैपिड एक्शन फोर्स की तर्ज पर तैनात किया जाएगा. दंगा बल के ट्रेनर जमशेदपुर में प्रशिक्षण ले रहे हैं.

अपराध नियंत्रण में भी मददगारडीजी ट्रेनिंग आलोकराज ने बताया कि दंगा निरोधी बल का गठन चयन, प्रशिक्षण, हथियार और ड्रेस पर खास जोर दिया गया है. सरकार के प्रतिनिधि भी दंगा निरोधी बल को आज की जरूरत बताते हुए अपराध और उपद्रव पर नियंत्रण के लिए उपयोगी करार दे रहे हैं. मंत्री कृष्णनंदन वर्मा का दावा है कि अपराध पर नियंत्रण पाना मौजूदा सरकार की प्राथमिकता है. वैसे राज्य पुलिस-प्रशासन के आलाधिकारियों की माने तो दंगा निरोधी बल दंगाइयों से निपटने में हर तरीके से सक्षम होगा. जरुरत पड़ने पर अपराध नियंत्रण में भी इसकी मदद ली जाएगी.

ये भी पढ़ें -

Bihar Board ने आगे बढ़ाई 2nd डमी एडमिट कार्ड में सुधार की तारीख

कल से शुरू होगा बिहार विधानमंडल का शीतकालीन सत्र, लॉ एंड ऑर्डर और जल जमाव पर घेरेगा विपक्ष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 11:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर