कांग्रेस राज्‍यसभा सांसद बोले- बिहार में अब चंद महीनों की सरकार, JDU ने कहा- कुछ लोग जनादेश को पलटना चाहते हैं

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

Bihar News: कांग्रेस राज्‍यसभा सांसद अखिलेश सिंह ने कहा है क‍ि ब‍िहार में मंत्री बनकर भी हाथ पर हाथ रखकर बैठे रहना किसे अच्छा लगेगा. मांझी और साहनी कोई भी वहां ठीक महसूस नहीं कर रहा है.

  • Share this:

क्‍या ब‍िहार की सत्‍ता में कोई पर‍िवर्तन होगा? क्‍या नीतीश कुमार की सरकार गिर जाएगी? इसको लेकर प‍िछले कुछ द‍िनों से विपक्ष की बयानबाजी तेज हो गई है. इसी क्रम में बुधवार यानी आज कांग्रेस के राज्य सभा सांसद अखिलेश सिंह का बड़ा दावा क‍िया है. उन्‍होंने कहा है क‍ि बिहार में अब चंद महीनों की सरकार है और वहां नई सरकार का गठन सुनिश्चित है. आपको बता दें क‍ि जीतन राम मांझी ने मंगलवार को आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को शादी की सालगिरह के मौके पर दिल छू लेने वाला बधाई संदेश दिया था. मांझी ने लालू प्रसाद यादव को शादी की 48वीं सालगिरह पर बधाई देते हुए कहा कि आप हमेशा स्वस्थ और खुशहाल रहकर जनता की सेवा करते रहें, यही कामना है. मांझी की इस बधाई के बाद बिहार के राजनीतिक गलियारों में चर्चा का बाजार गर्म है.

अखिलेश सिंह ने कहा है क‍ि ब‍िहार में आरजेडी सरकार को लीड करेगी. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी और वीआईपी के प्रमुख सह पशु एवं मत्स्य संशाधन मंत्री मुकेश साहनी को लेकर भी कांग्रेस नेता ने दावा क‍िया है. उन्‍होंने कहा है क‍ि मंत्री बनकर भी हाथ पर हाथ रखकर बैठे रहना किसे अच्छा लगेगा. मांझी और साहनी कोई भी वहां ठीक महसूस नहीं कर रहा है. बिहार में नीतीश कुमार के ख़िलाफ़ जनादेश आया था और वह ज़बरदस्ती के बनाए हुए मुख्यमंत्री हैं.

वहीं जेडीयू ने बिहार में सरकार की स्थिरता पर किसी भी तरह के संकट को ख़ारिज किया है. जेडीयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी का बयान ने कहा है क‍ि सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी. सत्ता के लोलूप लोग तिकड़मों के जरिए जनादेश को पलटना चाहते हैं, लेकिन मांझी जी और उनके लोगों ने करारा जवाब दिया है.

पीएम मोदी की तस्वीर पर उठाया था सवाल
जीतन राम मांझी ने पिछले दिनों उस समय एनडीए के नेताओं को चौंका दिया था, जब कोरोना का टीका लेने के बाद मिलने वाले प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर होने पर सवाल खड़ा किया था. इसके बाद मांझी ने ट्वीट करते हुए कहा कि टीके के प्रमाणपत्र पर अगर तस्वीर होती है तो मृत्यु प्रमाणपत्र पर भी तस्वीर होनी चाहिए. मांझी के इस बयान के बाद विपक्ष में भी खुलकर मांझी को समर्थन दिया और एनडीए पर सवाल खड़े किए.

कांग्रेस ने मांझी को बताया पुराना कांग्रेसी

बिहार में गरमाई सियासत के बीच कांग्रेस ने खुला ऑफर देते हुए उन्हें पुराना कांग्रेसी याद कराया. कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि जीतन राम मांझी आज भले ही एनडीए में हों पर वो पुराने कांग्रेसी रहे हैं और मंत्री भी थे. आज एनडीए में वो असहज हैं. ऐसा लगता है कि मांझी की एनडीए से मोह भंग हो गया है और आने वाले दिनों में कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं. अगर वो कांग्रेस में आते हैं तो उनका स्वागत होगा

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज