Bihar Politics: कोरोना पर नीतीश को धन्यवाद और नसीहत, कौन सा सियासी पेच कस रहे मांझी? क्या कहती है कांग्रेस

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी (फाइल फोटो)

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी (फाइल फोटो)

Bihar Corona Politics: जीतन राम मांझी ने कहा कि लॉकडाउन कोरोना का समाधान नहीं है, बल्कि स्वास्थ्य संकट से निपटना है तो गांव के उप स्वास्थ्य केंद्रों को सुव्यवस्थित करना होगा, ताकि भविष्य में आने वाली परेशानियों से निपटा जा सके.

  • Share this:

पटना. कोरोना के घटते संक्रमण के साथ ही बिहार में राजनीति भी तेज हो गई है. कांग्रेस ने जहां एक ओर इस मामले में सरकार पर सवाल उठाए हैं, वहीं बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया है. कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्र ने अपने बयान में कहा है कि बिहार में कोरोना का घटता संक्रमण लॉकडाउन का परिणाम है, लेकिन सरकार को लॉकडाउन अप्रैल महीने में ही लगा देना चाहिए था. कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर सरकार ने ऐसा किया होता तो करोना का संक्रमण काफी पहले ही कम हो गया होता.

प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि सरकार संक्रमण का दर कम होने पर अपनी पीठ थपथपाने में लगी है, लेकिन सरकार को राज्य में बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था कायम करनी होगी. उन्होंने अपने बयान में कहा कि बिहार में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्टर को कई मायनों में मजबूत करने की जरूरत है और इसके लिए सरकार को रणनीति बनानी होगी. कांग्रेस नेता का मानना है कि सरकार को सुनियोजित तरीके से काम करना होगा.

उधर, सरकार में सहयोगी हम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कोरोना संक्रमण का दर काफी कम हो जाने पर नीतीश कुमार को धन्यवाद देते हुए इसे उनके बेहतर और अद्वितीय कार्य का परिणाम बताया. जीतन राम मांझी ने कहा कि लॉकडाउन कोरोना का समाधान नहीं है, बल्कि स्वास्थ्य संकट से निपटना है तो गांव के उप स्वास्थ्य केंद्रों को सुव्यवस्थित करना होगा, ताकि भविष्य में स्वास्थ्य के क्षेत्र में आने वाली परेशानियों से निपटा जा सके.

मांझी ने इसके पहले कल पंचायत चुनाव नहीं कराए जाने पर पंचायत प्रतिनिधियों की कार्य अवधि में विस्तार की नसीहत नीतीश सरकार को दी थी. एक बार फिर से स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी नसीहत देकर नीतीश सरकार को घेरने की कोशिशों में जुटे हैं. सवाल उठ रहा है कि नसीहत और धन्यवाद की राजनीति में उलझाकर आखिर वह सियासत का कौन सा पेंच ढीला कर रहे हैं या फिर कस रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज