बिहार की राजनीति : चाय के बहाने नीतीश ने JDU MLA और एमएलसी को दिया यह बड़ा संदेश

चाय पिलाकर उत्साह का संचार करने की नीतीश कुमार की कोशिश.

नीतीश ने JDU के तमाम विधायक और विधान परिषद के सदस्यों को शाम में बुलाया और चाय पीने के दौरान ही ये बताया कि उपेंद्र कुशवाहा की घर वापसी हुई है. वे हम लोगों के साथ ही थे.

  • Share this:
पटना. उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के आग्रह पर अपनी पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) का विलय जनता दल यूनाइटेड (JDU) में कर दिया. विलय के बाद उपेन्द्र कुशवाहा ने भावुक होकर कहा था कि जब तक राजनीति करूंगा, नीतीश कुमार के साथ ही राजनीति करूंगा. इसके बाद नीतीश कुमार ने पूरे उत्साह से लबरेज होते हुए कहा कि उपेंद्र कुशवाहा की भूमिका JDU में उनके कद के मुताबिक होगी. इसके बाद बिना देर किए उन्होंने घोषणा कर दी कि उपेन्द्र कुशवाहा JDU संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष होंगे.

ये सारा वाकया हुआ था JDU के बड़े नेताओं और कार्यकर्ताओं के सामने JDU दफ्तर में. लेकिन नीतीश कुमार को अपने पार्टी के विधायकों और विधान परिषद के सदस्यों को भी ये मेसेज देना था कि उपेंद्र कुशवाहा की हैसियत उनकी नजर में कितना महत्त्वपूर्ण है और इसके लिए नीतीश कुमार ने एक आने मार्ग में बने नए भवन मिलन हॉल के उद्घाटन का मौका चुना. इस मौके पर उन्होंने JDU के तमाम विधायक और विधान परिषद के सदस्यों को शाम में बुलाया और चाय पीने के दौरान ही ये बताया कि उपेंद्र कुशवाहा की घर वापसी हुई है. वे हम लोगों के साथ ही थे. बीच में कुछ दिन के लिए चले गए थे. उनके आने से JDU को काफ़ी मजबूती मिली है और अब हमें एक यूनिट जैसा मिल कर काम करना है.

इस मौके पर विशेष रूप से आमंत्रित किए गए थे JDU के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और राज्य सभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह, जिनके बारे में भी नीतीश कुमार ने विधायकों को बोला कि आपलोग भी वशिष्ठ भाई से मिलना चाह रहे होंगे जिन्होंने महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की है, इस पर तमाम विधायकों ने भी खुशी जाहिर की.

साफ़ था, विधायकों को मैसेज मिल गया था की उपेन्द्र कुशवाहा की हैसियत JDU में बड़ी हो गई है, जिसकी चर्चा नीतीश कुमार ने कर दी थी, लेकिन इसके साथ ही नीतीश कुमार ने विधायकों को ये भी मैसेज देने की कोशिश की कि उनके समस्या के समाधान के लिए भी वे हर समय खड़े है , नीतीश कुमार ने बताया की अपने अपने क्षेत्र का सवाल मज़बूती से उठाए और जो भी समस्या हो उसे लिखित दे ताकि कोई भी समस्या का हल हो सके — विधायकों की हर समस्या का समाधान किया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक, बिहार के कई इलाकों से मिल रहे फीडबैक के बाद कि उपेन्द्र कुशवाहा के JDU के साथ आने के बाद कार्यकर्ताओं और लव-कुश समीकरण में बेहद उत्साह है, नीतीश कुमार बेहद उत्साहित हैं और इस उत्साह को पार्टी के अंदर भी बनाए रखना चाहते हैं. उसमें सबसे महत्त्वपूर्ण भूमिका विधायकों की है और नीतीश कुमार ने चाय के बहाने उन्हें मेसेज भी दे दिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.