नीतीश के आरक्षण कार्ड से तेज हुई बिहार की सियासत, कांग्रेस ने साधा निशाना

मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लोगों का आरक्षण प्रतिशत 2021 की जनगणना के बाद बढ़ेगा.

News18 Bihar
Updated: May 23, 2018, 10:36 AM IST
News18 Bihar
Updated: May 23, 2018, 10:36 AM IST
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आरक्षण कार्ड से बिहार की सियासत तेज हो गई है. आरक्षण को लेकर दिए गए नीतीश कुमार के बयान को विपक्ष जुमलेबाजी कह रहा है. विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने नीतीश कुमार के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा कि जब से नीतीश बीजेपी के साथ हुए हैं तब से वह भी जुमलेबाजी करने लगे हैं.

नीतीश कुमार के 2021 की जनगणना के बाद अनुसूचित जाति,अनुसूचित जन जाति के लोगों का आरक्षण प्रतिशत बढ़ने वाले बयान पर कांग्रेस ने कहा कि 2021 तो दूर एनडीए को 2019 में ही जनता ऐसा सबक सिखाएगी कि नीतीश कुमार का आरक्षण कार्ड फ्लॉप हो जाएगा. कांग्रेस प्रवक्ता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि यह बीजेपी का साइड इफेक्ट है. नीतीश कुमार को आरक्षण के सवाल पर पहले आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और पीएम मोदी से परामर्श लेने की जरूरत है.



बता दें कि मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लोगों का आरक्षण प्रतिशत 2021 की जनगणना के बाद बढ़ेगा. सीएम ने कहा कि जनगणना के बाद आरक्षण के प्रतिशत में इजाफा होगा और इस से जाति/जनजाति के लोगों के संवैधनिक अधिकारों में भी इजाफा हो सकता है.

ये भी पढ़ें

नीतीश कुमार का सुपौल दौरा, विभिन्न योजनाओं का करेंगे शिलान्यास
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...