Bihar Politics: उपेंद्र कुशवाहा और आरसीपी सिंह के बीच क्या खत्म हो गया विवाद?

उपेन्द्र कुशवाहा ने महिलाओं के 33 फीसदी आरक्षण के फैसले की तारीफ की. (फाइल फोटो)

उपेंद्र कुशवाहा ने बताया कि पार्टी में महिलाओं को तवज्जो दिया गया है, जो बहुत अच्छा संकेत है और हमारे साथ जो लोग आए थे, उन्हें भी उचित जगह मिली है. उम्मीद है कि आगे भी हमारे साथ आए लोगों को उचित जगह मिलेगी.

  • Share this:
पटना. ऐसा लग रहा है कि जेडीयू में उपेंद्र कुशवाहा और आरसीपी सिंह के बीच सुलह हो गई है. दरअसल JDU ने पार्टी पदाधिकारियों की जो लिस्ट जारी की है उससे उपेंद्र कुशवाहा संतुष्ट नजर आ रहे हैं. NEWS18 से बातचीत में कुशवाहा ने बताया कि पार्टी में महिलाओं को तवज्जो दिया गया है, जो बहुत अच्छा संकेत है और हमारे साथ जो लोग आए थे, उन्हें भी उचित जगह मिली है. उम्मीद है कि आगे भी हमारे साथ आए लोगों को उचित जगह मिलेगी.

कुशवाहा के मुताबिक, वे खुश हैं कि उनके साथ आए लोगों को पार्टी में काम करने का मौका मिला है. माना जा रहा है कि लगभग 12 से अधिक वैसे लोग जो उपेंद्र कुशवाहा के साथ जदयू में आए थे, उन सभी को प्रदेश कार्यसमिति में जगह मिली है. कुछ प्रमुख नामों का जिक्र करें तो उपाध्यक्ष के पद पर रणविजय सिंह (पूर्व MLA), सुभाष सिंह कुशवाहा (पूर्वी चंपारण), महासचिव के पद पर बबन सिंह कुशवाहा, अंगद कुशवाहा, रामपुकार सिन्हा, प्रदेश सचिव के पद पर श्याम कुशवाहा, अजय कुशवाहा, सुषुम्लता कुशवाहा, संतोष कुशवाहा, अजय कुशवाहा, धीरज कुशवाहा, मनोज लाल दास मनु. इनमें रणविजय सिंह गोह से आरएलएसपी के उम्मीदवार थे. वहीं, सुभाष सिंह कुशवाहा आरएलएसपी के पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष थे और कुशवाहा के खास धीरज कुशवाहा को भी प्रदेश मंत्री बनाया गया है.

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि बिहार में पहली बार पार्टी के पदाधिकारियों में 33 फीसदी महिलाओं को आरक्षण दिया गया. लेकिन बिहार में सरकार के स्तर पर यह पहले से लागू है. महिलाओं को नौकरी देने से लेकर उनके ट्रांसफर पोस्टिंग में भी नीतीश सरकार में आरक्षण लागू है. आधी आबादी को मुख्यधारा से कैसे जोड़ा जाए - नीतीश कुमार यह हर क्षण सोचते रहते हैं. बिहार में पंचायतों में, शिक्षकों की नियुक्ति में या अन्य सरकारी नौकरियों में महिलाओं को आरक्षण देकर एक मिसाल स्थापित किया है. दूसरी ओर देशभर में जदयू एकमात्र राजनीतिक पार्टी है जिसने महिलाओं को आरक्षण के अनुसार पार्टी के सांगठनिक ढांचे में जगह दी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.