बिहार : बाढ़-सुखाड़ से बचाव की पूर्व तैयारी शुरू, सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश

बाढ़ और सुखाड़ के आने से पहले उससे बचाव की तैयारियों को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने की बैठक.

बाढ़ और सुखाड़ के आने से पहले उससे बचाव की तैयारियों को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने की बैठक.

सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार में कभी बाढ़, कभी सुखाड़ की स्थिति बनी रहती है. इस बार भी इनकी आशंकाओं को देखते हुए पूरी तैयारी रखें. बाढ़ की स्थिति में टीम बनाकर प्रभावित क्षेत्रों का सही आकलन करवाएं.

  • Share this:

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज बाढ़-सुखाड़ पर हाई लेवल मीटिंग की और अधिकारियों को कई निर्देश दिए. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से आयोजित इस मीटिंग में सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार में कभी बाढ़, कभी सुखाड़ की स्थिति बनी रहती है. इस बार भी बाढ़ और सुखाड़ की आशंकाओं को देखते हुए पूरी तैयारी रखें. बाढ़ की स्थिति में टीम बनाकर प्रभावित क्षेत्रों का सही आकलन करवाएं. सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी विधायकों और विधान पार्षदों से उनके क्षेत्र के संबंध में जल्द से जल्द सुझाव लें और उन पर अमल करें.

आपको बता दें कि एक तरफ उत्तर बिहार में हर साल बाढ़ की विभीषिका से लाखों की आबादी प्रभावित होती है, वहीं दक्षिण बिहार में सुखाड़ की स्थिति रहती है. इन स्थितियों के मद्देनजर आयोजित की गई बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों से कहा कि बाढ़ से सुरक्षा के लिए बाकी बचे सभी कटाव निरोधक कार्य और बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य जल्द पूरा करें. बाढ़ की स्थिति में तटबंधों की निगरानी के लिए विशेष सतर्कता बरतें. गश्ती कार्य नियमित रूप से हो. पथ निर्माण विभाग एवं ग्रामीण कार्य विभाग बाढ़ के दौरान क्षतिग्रस्त होने वाली सड़कों की मरम्मत की पूरी तैयारी रखें. ग्रामीण क्षेत्रों में जो सड़कें पहले से क्षतिग्रस्त हैं उनकी भी मरम्मत का काम जल्द पूरा करें. बाढ़ की आशंका को देखते हुए बाढ़ राहत केंद्र के लिए जगह चिन्हित करें और उसकी पहले से तैयारी रखें.

वर्चुअल बैठक के दौरान जानकारी दी गई कि इस वर्ष मॉनसून अवधि में सामान्य वर्षा की संभावना है. सीएम ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावित लोगों की सूची बनाते समय पूरी पारदर्शिता बरती जाए, ताकि कोई भी पीड़ित मुआवजे से वंचित न रहे. बाढ़ राहत कार्यों में जिन पदाधिकारियों कर्मचारियों और जीविका दीदियों का सहयोग लिया जाएगा, उनका टीकाकरण अवश्य करवा लें.

आज की बैठक में सभी जिलों के जिलाधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े हुए थे, जिसमें पटना, सहरसा, समस्तीपुर, खगड़िया, दरभंगा और मुजफ्फरपुर के जिलाधिकारियों ने भी अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिए. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण का अभी दौर चल रहा है इससे लोगों का बचाव हमारी प्राथमिकता है. पूरा प्रशासन इसके लिए तत्परता से काम कर रहा है. इस विषम परिस्थिति में सबको मिल-जुलकर काम करना है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज