• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Bihar STET: रद्द परीक्षा के लिए गाइडलाइन जारी, दोबारा नहीं भरना होगा फॉर्म

Bihar STET: रद्द परीक्षा के लिए गाइडलाइन जारी, दोबारा नहीं भरना होगा फॉर्म

यूजीसी ने इस संबंध में 29 अप्रैल को जारी गाइडलाइन्स को ध्यान में रखने के लिए कहा है.

यूजीसी ने इस संबंध में 29 अप्रैल को जारी गाइडलाइन्स को ध्यान में रखने के लिए कहा है.

Bihar STET: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEC) के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि रद्द परीक्षा में दोबारा शामिल होने के लिए परीक्षा फॉर्म भरने वाले अभ्यर्थियों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा.

  • Share this:
    पटना. बिहार में रद्द हुई एसटीईटी (STET) की परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को दोबारा फॉर्म नहीं भरना होगा. परीक्षा रद्द किए जाने के बाद बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने यह घोषणा की है. परीक्षा समिति ने कहा कि वर्ष 2019 की परीक्षा में शामिल होने के लिए किसी भी परीक्षार्थी (जिसने पूर्व में फॉर्म भरा था) को फिर से इस परीक्षा का न तो फॉर्म भरना होगा और न ही इस परीक्षा के लिए उनसे कोई शुल्क ली जाएगी. इसके साथ ही बोर्ड ने साफ कर दिया है कि पुनर्परीक्षा के लिए किसी भी अभ्यर्थी को अलग से आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी.

    दरअसल, जनवरी महीने में हुई बिहार की शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी एसआईटी को जांच कमेटी द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर रद्द कर दिया गया था. यह परीक्षा राज्य के 317 केंद्रों पर आयोजित की गई थी. परीक्षा के दौरान राज्य के कई केंद्रों पर काफी हंगामा हुआ था. कई परीक्षार्थियों ने प्रश्नों के कोर्स से बाहर से पूछे जाने का आरोप लगाया था.

    जल्द ही होगा नई तारीख का ऐलान
    बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर के मुताबिक रद्द की गई इस परीक्षा में दोबारा शामिल होने के लिए परीक्षा फॉर्म भरे हुए अभ्यर्थियों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा. परीक्षा रद्द करने के साथ ही बोर्ड ने बिहार सरकार के शिक्षा विभाग को फिर से परीक्षा आयोजित करने की अनुशंसा भी भेजी है. बोर्ड ने कहा है कि STET की पुनर्परीक्षा के लिए तिथि निर्धारित होते ही परीक्षार्थियों को जानकारी दी जाएगी.

    तीन सौ से ज्यादा केंद्रों पर हुई थी परीक्षा
    एसटीईटी 2019 राज्य भर में 28 जनवरी को 317 केंद्रों पर ली गयी थी. दो पाली में हुई परीक्षा में दो लाख 47 हजार 241 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. इसमें प्रथम पाली में एक लाख 81 हजार 738 और दूसरी पाली में 65 हजार 503 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. ज्ञात हो कि 28 जनवरी को परीक्षा होने के बाद प्रश्न पत्र के साथ कई पहलूओं पर जांच के लिए बोर्ड ने चार सदस्यीय कमिटी गठित की थी. एसटीईटी 2019 राज्य भर में 28 जनवरी को 317 केंद्रों पर ली गयी थी.

    2 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी हुए थे शामिल
    दो पाली में हुई परीक्षा में दो लाख 47 हजार 241 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. इसमें प्रथम पाली में एक लाख 81 हजार 738 और दूसरी पाली में 65 हजार 503 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. ज्ञात हो कि 28 जनवरी को परीक्षा होने के बाद प्रश्न पत्र के साथ कई पहलूओं पर जांच के लिए बोर्ड ने चार सदस्यीय कमिटी गठित की थी.

    जांच कमिटी ने परीक्षा रद्द करने  की सिफारिश की थी-
    जांच कमिटी ने अपनी रिपोर्ट में परीक्षा रद्द करने की अनुशंसा की थी. साथ ही इस परीक्षा के दोबारा आयोजन कराए जाने की भी सिफारिश की गई है. इसके लिए बिहार शिक्षा विभाग के पास अनुशंसा भेजी जा चुकी है. इस संबंध में बिहार बोर्ड ने नोटिस जारी कर पूरी सूचना दी है

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज