मजदूरों को नहीं लाने पर BJP ने सरकार पर उठाया सवाल, कांग्रेस ने सरकार को दिया ऑफर
Patna News in Hindi

 मजदूरों को नहीं लाने पर BJP ने सरकार पर उठाया सवाल, कांग्रेस ने सरकार को दिया ऑफर
लॉकडाउन में नियम बदले गए हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

बिहार से बाहर के मजदूरों (Migrant Labors) को वापस लाने के लिए एक तरफ सरकार ने हाथ खड़े लिए हैं. वहीं कांग्रेस (Congress) ने बिहार सरकार को ऑफर देते हुए कांग्रेस सरकार से मदद मांगने की बात कही है.

  • Share this:
पटना. दूसरे राज्यों में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान फंसे बिहारी मजदूरों (Migrant Labors) को वापस लाने को लेकर केंद्र द्वारा नया गाइडलाइन (Guideline) जारी होने के बाद बिहार सरकार (Bihar Government) की परेशानी बढ़ी हुई है. बिहार सरकार ने मजदूरों को बुलाने के लिए बस भेजने को लेकर पहले से ही हाथ खड़े कर दिए हैं और केंद्र सरकार से स्पेशल ट्रेन की मांग की है. ऐसे में बीजेपी ने ही अपनी सरकार पर सवाल खड़े कर परेशानी बढ़ा दी है.

बीजेपी विधायक बोले- आपदा में संसाधन पर जनता का पहला हक
बिहार सरकार के हाथ खड़े करने के बाद विपक्ष के साथ सत्ता दल के नेता भी सवाल खड़े करने लगे हैं. बीजेपी नेता नितिन नवीन ने कहा कि आपदा के समय सरकार के संसाधनों और सुविधाओं पर पहला हक जनता का होता है. ऐसे में सरकार को चाहिए कि सभी संसाधन जुटाकर बाहर से आने वाले मजदूरों को वापस लाए. सरकार चाहेगी तो बस का भी प्रबंध हो जाएगा. ये अपने बिहार के लोग हैं, इसलिए इनके आने को लेकर हरसंभव प्रबंध करना चाहिए.

कांग्रेस ने बिहार सरकार को दिया ऑफर
बिहार से बाहर के मजदूरों को वापस लाने के लिए एक तरफ सरकार ने हाथ खड़े कर लिए हैं. वहीं कांग्रेस ने बिहार सरकार को ऑफर देते हुए कांग्रेस से मदद मांगने की बात कही है. कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि अगर नीतीश कुमार मान लेते है कि वे सक्षम नहीं हैं, तो फिर कांग्रेस शासित प्रदेशों से मदद मांगनी चाहिए. सभी कांग्रेस सरकार नीतीश कुमार को मदद करने के लिए तैयार हैं. नीतीश कुमार बताएं कि नहीं हो पाएगा, तो हम सभी सरकारों से आग्रह करेंगे कि सभी छात्रों और मजदूरों को भेजे.



जेडीयू ने बताया सभी को लाना संभव नहीं
मजदूरों और छात्रों को लाने के मामले में बीजेपी जहां सवाल खड़े कर रही है, वहीं जेडीयू ने साफ कर दिया है कि ये संभव नहीं. जेडीयू नेता और भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी में बताया कि 25 लाख मजदूरों को बसों में लाने पर महीनों लग जाएंगे. जो जैसे आना चाहते हैं आएं. जिस प्रदेश में रह रहे हैं उस सरकार को भी मदद करनी चाहिए. सरकार यहां क्वारंटाइन सेंटर का निर्माण कर रही है और सभी को जांच कर रखा जाएगा.

ये भी पढ़ें- कोटा में फंसे बिहार के बच्चों को लाने के लिए पप्पू यादव ने भेजीं 30 बसें

ये भी पढे़ेंLockdown: बाहर फंसे 27 लाख लोगों को लाने के लिए बिहार सरकार ने की नॉन स्टॉप ट्रेनों की मांग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज