• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • तेजस्‍वी के मध्यावधि चुनाव के बयान से चढ़ा सियासी पारा, जेडीयू-BJP ने कहा- आरजेडी देख रही मुंगेरीलाल के हसीन सपने

तेजस्‍वी के मध्यावधि चुनाव के बयान से चढ़ा सियासी पारा, जेडीयू-BJP ने कहा- आरजेडी देख रही मुंगेरीलाल के हसीन सपने

तेजस्‍वी यादव के बयान के बाद बिहार में सियासत तेज हो गई है.

तेजस्‍वी यादव के बयान के बाद बिहार में सियासत तेज हो गई है.

बिहार में मध्यावधि चुनाव (Mid Term Election) के लिए कार्यकर्ताओं को तैयार रहने की नसीहत देने के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) भाजपा और जेडीयू के निशाने पर आ गए हैं.

  • Share this:
    पटना. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने सोमवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रदेश में मध्यावधि चुनाव (Mid Term Election) के लिए कमर कसने का आह्वान करते हुए कहा कि यह चुनाव 'कभी भी, 2021 में भी' हो सकते हैं. इसके बाद से बिहार एनडीए के नेता हमलावर हो गए हैं. इस पर जेडीयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी (K C Tyagi) ने कहा कि तेजस्वी यादव को पूरे पांच साल इसी निराशा के साथ गुजरना है. साथ ही दावा किया कि यह सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी और अपनी उपलब्धियों के आधार पर अगले पांच साल के लिए समर्थन लेगी. जबकि भाजपा (BJP) ने इसे मुंगेरीलाल के हसीन सपने करार दिया है.

    भाजपा ने तेजस्‍वी पर साधा निशाना
    जेडीयू से पहले भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष संजय जायसवाल ने भी तेजस्‍वी यादव पर तंज कसते हुए कहा कि तेजस्वी दिन में सपने देखते हैं, इसलिए इस तरह का बयान दे रहे हैं. उनका जनता पर कम बल्कि अपराधियों पर ज्यादा भरोसा है. पहले बैलट लूट कर सत्ता में काबिज रहते थे. जबकि ईवीएम लूटने का कोई तरीका नहीं है इसलिए सत्ता से बाहर हो गए हैं. तेजस्वी यादव मुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रहे हैं.

    बहरहाल, हाल ही में संपन्न हुए बिहार विधानसभा चुनाव में राजद 75 सीटों के साथ सबसे बड़े दल के रूप में उभरी लेकिन उसके नेतृत्व वाला पांच दलों का विपक्षी महागठबंधन 243 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा हासिल करने में विफल रहा था. बिहार में सत्तारूढ़ राजग ने इस चुनाव में बहुमत हासिल किया और जद-यू अध्यक्ष नीतीश कुमार फिर से मुख्यमंत्री बने. हालांकि उनकी पार्टी के खाते में महज 43 सीटें आईं जबकि भाजपा ने 74 सीटें जीतीं. वहीं राजग में शामिल दो छोटे दलों पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा और मंत्री मुकेश साहनी की विकासशील इंसान पार्टी ने चार-चार सीटें जीती थीं. लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान के बाद तेजस्वी बिहार के दूसरे प्रमुख राजनेता हैं जिन्होंने मध्यावधि चुनावों की भविष्यवाणी की है.

    मात्र एक सीट पर विजयी रही थी
    बिहार विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद चिराग ने 28 नवंबर को पार्टी कार्यकर्ताओं को लिखे एक पत्र में प्रदेश में मध्यावधि चुनाव की संभावना जताते हुए उनसे अभी से इसकी तैयारियों में लग जाने को कहा था. उल्लेखनीय है कि केंद्र में सत्ताधारी राजग में शामिल रही लोजपा हाल में संपन्न बिहार विधानसभा चुनाव के पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व को अस्वीकार्य करते हुए उनकी पार्टी जदयू से नाता तोड़कर अकेले अपने बलबूते इस चुनाव में उतरी और मात्र एक सीट पर विजयी रही थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज