होम /न्यूज /बिहार /

नीतीश कुमार के 'धोखे' से आहत भाजपा मना रही विश्वासघात दिवस, कल जिला व प्रखंड कार्यालयों पर धरना

नीतीश कुमार के 'धोखे' से आहत भाजपा मना रही विश्वासघात दिवस, कल जिला व प्रखंड कार्यालयों पर धरना

पटना के वीरचंद पटेल मार्ग स्थित भाजपा के प्रदेश कार्यालय पर बीजेपी नेताओं का धरना.

पटना के वीरचंद पटेल मार्ग स्थित भाजपा के प्रदेश कार्यालय पर बीजेपी नेताओं का धरना.

Bihar Political Crisis: पटना में वीर चंद पटेल मार्ग स्थित भारतीय जनता पार्टी के बिहार प्रदेश ऑफिस के सामने भाजपा नेता धरना पर बैठे हैं. वहीं, 11 अगस्त को जिला और ब्लॉक के सामने भी धरना प्रदर्शन करने की घोषणा भी बीजेपी ने की है. इस धरना में बिहार बीजेपी के कई नेता इसमें शामिल हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

नीतीश कुमार द्वारा पाला बदलकर एनडीए से महागठबंधन में जाने के विरोध में भाजपा का धरना
पटना के भाजपा कार्यायल पर धरना में कई वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी, कार्यकर्ताओं की भी भीड़

पटना. नीतीश कुमार ने एक झटके में एनडीए छोड़कर महागठबंधन का हिस्सा बनने का फैसला किया और मंगलवार को इस्तीफा भी दे दिया. इसके साथ ही उन्होंने 164 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपते हुए नई सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया. अब नई सरकार के शपथ ग्रहण की तैयारियों के बीच मंत्रिमंडल के फॉर्मूले व मंत्रियों के नामों को लेकर माथापच्ची जारी है. वहीं, दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी इसे नीतीश कुमार का धोखा करार दे रही है. इसी के विरोध में भाजपा के पटना स्थित कार्यालय में नई सरकार के खिलाफ विशासघात दिवस मना रही है. इसी क्रम में पटना के बीजेपी ऑफिस में कई वरिष्ठ नेता धरना पर बैठे हैं.

पटना में वीर चंद पटेल मार्ग स्थित भारतीय जनता पार्टी के बिहार प्रदेश ऑफिस के सामने भाजपा नेता धरना पर बैठे हैं. वहीं, 11 अगस्त को जिला और ब्लॉक के सामने भी धरना प्रदर्शन करने की घोषणा भी बीजेपी ने की है. इस धरना में बिहार बीजेपी के कई नेता इसमें शामिल हैं. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, पूर्व केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, पूर्व केंद्रीय मंत्री राम कृपाल यादव, शाहनवाज हुसैन समेत वरिष्ठ नेता बीजेपी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे हैं. इस दौरान बीजेपी नेताओं ने नीतीश कुमार मुर्दाबाद के नारे लगाए और नई सरकार के गठन को लोकतंत्र के खिलाफ कदम बताया गया.

प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि हमने बिहार में गिरती कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर सवाल खड़ा किया जो नीतीश कुमार को नागवार लग गया. मगर हमलोग मुख्यमंत्री के समक्ष ऐसे मुद्दे न उठाएं तो कहां उठाएं. जायसवाल ने कहा कि भारती जनता पार्टी की जहां भी सरकार है वहां कानून व्यवस्था पर विशेष ध्यान देती है. उसे काबू में रखती है, लेकिन बिहार में लगातार स्थिति खराब होती जा रही थी और हम इस मुद्दे से मुंह मोड़कर नहीं रह सकते थे. ऐसे में नीतीश कुमार के सामने सवाल उठाना जायज था.

राधा मोहन सिंह ने कहा कि हमेशा ही हमलोगों ने नीतीश कुमार का साथ दिया. कम संख्या होने के बाद भी लगातार भाजपा ने उनका समर्थन किया और उनके कद को बड़ा किया, लेकिन उन्होंने धोखा दिया. शाहनवाज हुसैन ने कहा कि हमलोग बिहार के विकास के काम में लगे थे, लेकिन नीतीश कुमार ने हमें अपनी नाराजगी का पता नहीं लगने दिया. अगर नाराजगी थी तो दूर की जा सकती थी, लेकिन वह तो विश्वासघात कर गए. हमलोग 2024 का लोकसभा चुनाव प्रचंड बहुमत से जीतेंगे.

Tags: Bihar NDA, Bihar News, Bihar politics, CM Nitish Kumar, Mahagathbandhan

अगली ख़बर