बिहार: BJP के नए अध्यक्ष की तलाश, चर्चा में हैं ये नाम
Patna News in Hindi

बिहार: BJP के नए अध्यक्ष की तलाश, चर्चा में हैं ये नाम
बिहार BJP के नेता- मंगल पांडे, रामकृपाल यादव और राजीव प्रताप रूडी

जानकारी के अनुसार बिहार बीजेपी सांगठनिक कार्यों के निपटारे के लिए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश में है. पार्टी तेजी से नित्यानंद राय के ऑप्शन ढूंढ रही है.

  • Share this:
बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केंद्र में गृह राज्यमंत्री बन गए हैं. अब प्रदेश बीजेपी के सामने ये दुविधा है कि अगला प्रदेश अध्यक्ष कौन होगा? चूंकि बिहार बीजेपी के संगठन चुनाव का भी वक्त है तो बीजेपी के नेता ये कह रहे हैं कि पहले संगठन चुनाव को निपटाया जाएगा. वहीं जानकारों का कहना है कि बीजेपी अपने नए अध्यक्ष की तलाश में है.

नित्यानंद का ऑप्शन ढूंढ रही BJP
जानकारी के अनुसार बिहार बीजेपी सांगठनिक कार्यों के निपटारे के लिए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश में है. पार्टी तेजी से नित्यानंद राय के ऑप्शन ढूंढ रही है. जानकारों की मानें तो बीजेपी कुछ नाम पर गंभीरता विचार भी कर रही है. आइये हम ऐसे ही कुछ नामों पर नजर डालते हैं जिनके नाम की चर्चा हो रही है.

मंगल पांडे के नाम की चर्चा
बिहार में सबसे अधिक स्वास्थ्य मंत्री मंडल पांडे के नाम की चर्चा सर्वाधिक है. गौरतलब है कि जब मंगल पांडे बिहार बीजेपी के अध्यक्ष पद पर थे तो प्रदेश में पार्टी बेहद मजबूत हुई थी. ऐसे भी वे हिमाचल प्रदेश और झारखंड के चुनाव प्रभारी रहते हुए बीजेपी को सफलता दिला चुके हैं.



रामकृपाल यादव का सामाजिक आधार
बीते पाांच सालों में रामकृपाल यादव पीएम मोदी और अमित शाह के विश्वासपात्र बन चुके हैं. नित्यानंद राय और रामकृपाल यादव एक ही जाति से आते हैं. इसलिए राय को जब केंद्रीय मंत्रिपरिषद का हिस्सा बनाया गया तो रामकृपाल को ड्रॉप कर दिया गया. चर्चा यह भी है कि मास से जुड़े होने और यादवों में एक विश्वसनीय चेहरा होने के कारण उन्हें भी ये जिम्मेदारी दी जा सकती है.

मिथिलेश तिवारी के नाम पर सवर्ण सियासत
बिहार में जाना-माना सवर्ण चेहरा हैं. डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी से दूर-दूर, पास-पास वाला रिश्ता रहा है, लेकिन सवर्ण सियासत को साधने के लिए बीजेपी उनका नाम आगे कर सकती है. फिलहाल वे प्रदेश के उपाध्यक्ष हैं और सुलझे हुए संगठनकर्ता के तौर पर उनकी पहचान है. अपनी बातों को मजबूती से रखने में वे कभी पीछे नहीं हटते हैं.

राजेंद्र सिंह पर बीजेपी करती है भरोसा
झारखंड के बीजेपी के संगठन महासचिव हैं और आरएसएस बैकग्राउंड के हैं. रोहतास जिला के रहने वाले हैं और फिलहाल बीजेपी में बिहार प्रदेश महासचिव के पद पर भी हैं. 2015 में इनका नाम मुख्यमंत्री के तौर पर भी उभरा था जब बीजेपी और जेडीयू अलग-अलग चुनाव लड़ी थी.

BJP का मॉडर्न चेहरा राजीव प्रताप रूडी
फिलहाल बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं. रूडी की पहचान अच्छे संगठनकर्ता रूप में रही है. पिछली मोदी कैबिनेट से जब ड्रॉप किया गया तो उनकी नाराजगी की खबरें आम हुई थीं, लेकिन वे पार्टी के वफादार बने रहे और अमित शाह और पीएम मोदी के विश्वासपात्र भी हैं. पीएम मोदी जिस बदलती राजनीति की बात करते हैं उसमें रूडी एक मॉडर्न चेहरा हो सकते हैं.

संजीव चौरसिया के साथ आरएसएस बैकग्राउंड
वैश्य समाज से आते हैं और फिलहाल वे बीजेपी के विधायक हैं. भाजयुमो के प्रदेश महासचिव रह चुके हैं. आरएसएस बैकग्राउंड है. इनके पिताजी गंगा प्रसाद फिलहाल सिक्किम में राज्यपाल पद पर हैं. चौरसिया बिहार बीजेपी में अच्छी दखल रखते हैं.

एक्सटेंशन पर चल रहे हैं नित्यानंद राय 
बहरहाल इन नामों पर चर्चा के बीच बिहार में संगठन चुनाव का वक्त हो चुका है. नित्यानंद राय ऐसे भी एक्सटेंशन पर चल रहे हैं क्योंकि उनका कार्यकाल 2018 के नवंबर में खत्म हो गया था, लेकिन लोकसभा चुनाव के देखते हुए इसे बढ़ा दिया गया था.

सामाजिक समीकरण ही होगा आधार
अब जब नए अध्यक्ष की तलाश की जा रही है तो सामाजिक समीकरण को ध्यान में रखते हुए बीजेपी अगला अध्यक्ष बनाएगी यह तय है. हालांकि ये भी कहा जा रहा है कि अध्यक्ष वही बनेगा जो संगठन को बेहतर तरीके चलाए ही साथ ही संघ भी उसपर भरोसा करे.

इनपुट- बृजम पांडे

ये भी पढ़ें-


JDU का विपक्ष पर निशाना, अजय आलोक बोले- हमने बचाई 2500 से ज्यादा जिंदगी




राज्यसभा के लिए पासवान के नामांकन में दिखेगी NDA की एकजुटता, CM नीतीश भी रहेंगे मौजूद!

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading