• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • BJP नेता बोले- राजनीति में हर एक्शन के मायने, NDA में आना चाहते हैं मांझी

BJP नेता बोले- राजनीति में हर एक्शन के मायने, NDA में आना चाहते हैं मांझी

फाइल फोटो

फाइल फोटो

बीजेपी नेता ने कहा कि जीतनराम मांझी और नीतीश कुमार के गले मिलने ने एक संदेश दिया है. क्योंकि राजनीति में जो एक्शन होता है उसके मायने होते हैं. मांझी जी एनडीए के करीब आना चाहते हैं.

  • Share this:
    दावत-ए-इफ्तार की सियासत के बीच दो और तीन जून को 24 घंटे के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के बीच दो मुलाकातों ने बिहार की सियासत में हलचल मचा दी है. जिस तरह से सीएम नीतीश ने मांझी को गले लगाया इससे भी कयासों का बाजार गर्म हो गया. इसके बाद तो आरजेडी और कांग्रेस ने सीएम नीतीश को महागठबंधन में आने का न्योता दे दिया. वहीं मांझी ने भी इसी ओर इशारा किया. अब बीजेपी नेता और बिहार सरकार में पूर्व मंत्री के एक बयान ने राजनीति के पूरे गणित को ही पलट कर रख दिया है. बीजेपी के नेता महाचंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि जीतनराम मांझी एनडीए के करीब आना चाहते हैं.

    बीजेपी नेता ने कहा कि जीतनराम मांझी और नीतीश कुमार के गले मिलने ने एक संदेश दिया है. क्योंकि राजनीति में जो एक्शन होता है उसके मायने होते हैं. मांझी जी एनडीए के करीब आना चाहते हैं और उनके शामिल होने पर विचार किया जाना चाहिए.

    ये भी पढ़ें- बिहार: शिक्षक नियुक्ति में फर्जीवाड़ा, BDO और BEO पर लगा 30-30 हजार का जुर्माना

    बता दें कि दो दिन पहले ही  बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने भी कहा था कि मांझी अगर एनडीए में आना चाहें तो उसका स्वागत है. सुशील मोदी ने कहा था कि आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के लिए भी कहा था कि उनके जैसे नेताओं की आरजेडी में प्रतिष्ठा नहीं है अगर वह हमारे साथ आते हैं तो हम उनका स्वागत करेंगे और उनका सम्मान भी करेंगे.

    ये भी पढ़ें-  केसी त्यागी बोले- हम BJP के साथ कम्फर्टेबल, फिलहाल अलगाव संभव नहीं

    दरअसल जेडीयू के केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं होने के फैसले के बाद से ही तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. इसके बाद  जिस तरह से पहले कांग्रेस नीतीश कुमार के एनडीए मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं होने के फैसले का समर्थन किया फिर जीतन राम मांझी ने नई दोस्ती की पहल की और रघुवंश प्रसाद सिंह ने आरजेडी के साथ आने का खुला ऑफर दिया इससे बिहार की सियासत में हलचल बढ़ गई है.

    हालांकि गुरुवार को जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने इस बात से इनकार किया है जेडीयू एनडीए से अलग हो सकती है. उन्होंने कहा कि केंद्र में हमारे मंत्री नहीं हैं, इससे असहज जरूर हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि हम NDA से बाहर आ जाएंगे.

    इनपुट- अमितेश

    ये भी पढ़ें-

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज