Home /News /bihar /

पूर्व मंत्री ने लगाया सरकार पर गंभीर आरोप, तो वर्तमान मंत्री के बचाव में खुद उतर आए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

पूर्व मंत्री ने लगाया सरकार पर गंभीर आरोप, तो वर्तमान मंत्री के बचाव में खुद उतर आए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा के सवाल के जवाब में मंत्री को घिरता देख सीएम नीतीश कुमार ने मोर्चा संभाल लिया. (फाइल फोटो)

पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा के सवाल के जवाब में मंत्री को घिरता देख सीएम नीतीश कुमार ने मोर्चा संभाल लिया. (फाइल फोटो)

Winter Session of Bihar Assembly: मामले की गंभीरता को देखते हुए और विधायकों के द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आश्वासन की मांग के बाद सीएम नीतीश ने इस पूरे मामले पर कहा कि जिन लोगों ने सवाल उठाया, वो सभी मंत्री रहे हैं. हम इन लोगों से जानना चाहते हैं कि इनके मंत्री रहते समय क्या व्यवस्था थी. हमने बहुत पहले इसके निर्देश दे दिए थे, हम आपको याद करा दे रहे हैं. अगर कोई व्यवस्था बनी हुई थी, अगर उसकी अवहेलना हुई होगी, तो बताइयेगा.

अधिक पढ़ें ...

पटना. प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना का मामला बिहार विधान सभा में उठा. भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा ने सवाल उठते हुए कहा कि ग्रामीण कार्य विभाग की ओर से विधायकों को सूचना नहीं दी जाती है. सड़कों की जानकारी और बनने पर उद्घाटन की सूचना भी नहीं दी जाती है. सरकार को इसकी व्यवस्था तय करनी चाहिए ताकि विधायकों को सूचना मिल सके. मेरा हक है कि हम अपने क्षेत्र में हो रहे सड़क निर्माण की जानकारी लें. नीतीश मिश्रा ने कहा- दो महीने में ग्रामीण कार्य विभाग की ओर से सूची नहीं दी गयी. साल भर में हम नहीं जान सके कि हमारे क्षेत्र में कितनी सड़कों पर काम हो रहा है.

नीतीश मिश्रा के आरोपों पर ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज ने कहा कि सब सूचनाएं विधायकों और सांसदों को दी जाती हैं. 2020 के चुनाव के बाद अभी तक सड़कों का चयन नहीं किया गया. हम विधायक की ओर से उठाए गए सवालों को सही मानते हैं. कोरोना के समय ऑनलाइन शिलान्यास और उद्घाटन किया गया. आनेवाले समय से शिलान्यास और उद्घाटन की सूचना विधायकों और सांसदों को दी जाएगी.हम मामले को दिखवा लेते हैं. विधायकों की आपत्ति पर ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज ने कहा कि एक हफ्ते में विधायकों को जानकारी दे दी जाएगी.

बीजेपी विधायक नीतीश मिश्रा के आरोपों का बाकी विधायकों ने भी समर्थन किया जिसके बाद संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि किसी स्तर पर कमी हुई है, तो उस पर सरकार कार्रवाई करेगी. इसके साथ ही ये भी तय करेगी कि सम्बंधित विधायक को सूचना मिल जाये. हालांकि, मामले की गंभीरता को देखते हुए और विधायकों के द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आश्वासन की मांग के बाद सीएम नीतीश ने इस पूरे मामले पर कहा कि जिन लोगों ने सवाल उठाया, वो सभी मंत्री रहे हैं. हम इन लोगों से जानना चाहते हैं कि इनके मंत्री रहते समय क्या व्यवस्था थी. हमने बहुत पहले इसके निर्देश दे दिए थे, हम आपको याद करा दे रहे हैं.  अगर कोई व्यवस्था बनी हुई थी, अगर उसकी अवहेलना हुई होगी, तो बताइयेगा.

सीएम नीतीश ने कहा कि अगर किसी योजना को बिना टेंडर शिलान्यास कराया गया, तो उसकी सूचना दे दीजिएगा. अगर किसी विभाग ने ऐसा किया, तो उससे जरूर पूछताछ की जाएगी. हमने निर्देश दिया हुआ है कि बिना टेंडर किसी योजना का शिलान्यास नहीं कराया जाए. नीतीश मिश्रा से सीएम नीतीश ने कहा आप भी मंत्री रह चुके हैं और इस सवाल को भी उठा रहे हैं. सबसे ज्यादा देर भाषण भी दिए, आप ही ग्रामीण कार्य मंत्री को बता दीजिए आपके समय मे क्या होता था?

Tags: Bihar Government, Bihar News, Bihar politics, Nitish Government, PATNA NEWS

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर