लाइव टीवी

BJP एमएलसी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, बोले- जंगलराज से भी ज्यादा हो रही हत्याएं
Patna News in Hindi

Amit Kumar | News18 Bihar
Updated: December 18, 2019, 1:42 PM IST
BJP एमएलसी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, बोले- जंगलराज से भी ज्यादा हो रही हत्याएं
बीजेपी नेता सच्चिदानंद राय नीतीश कुमार के विरोधी माने जाते हैं (फाइल फोटो)

सच्चिदानंद राय के इस बयान पर जेडीयू (JDU) प्रवक्ता राजीव रंजन ने कड़ी टिप्पणी की है. राजीव ने कहा कि उनका बयान बेतुका है. अन्य राज्यों की तुलना में बिहार में अपराध (Crime In Bihar) का ग्राफ कम है.

  • Share this:
पटना. बिहार में बदहाल हो रही कानून व्यवस्था (Law and Order) को लेकर बीजेपी (BJP) के एमएलसी सच्चिदानंद राय ने अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा किया है. सच्चिदानंद राय ने कहा कि बीते चार साल में राज्य में कानून व्यवस्था चौपट हो चुकी है. हत्या, लूट, महिलाओं के साथ होने वाले अपराध चरम पर हैं. इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि जंगलराज (Jangal Raj) के दौर से भी इस दौर में अधिक हत्याएं हो रही हैं. राय ने कहा कि सरकार अच्छा काम नहीं कर रही है.  उन्होंने कहा कि सरकार नाम की कोई चीज नही रहीं है, मेरी सरकार है तो क्या मैं हकीकत ना बोलूं.

जेडीयू का पलटवार

सच्चिदानंद राय के इस बयान पर जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कड़ी टिप्पणी की है. राजीव ने कहा कि उनका बयान बेतुका है. अन्य राज्यों की तुलना में बिहार में अपराध का ग्राफ कम है. उन्होंने सच्चिदानंद राय को सलाह देते हुए कहा कि ऐसे बयान मीडिया में देने की बजाय पार्टी फोरम पर अपनी बात रखनी चाहिए.

राजद ने मांगा सीएम से इस्तीफा

इन सब के बीच आरजेडी ने भी बिहार की बदहाल हो चुकी कानून व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है. आरजेडी के कद्दावर नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि अगर आपसे शासन नहीं संभल रहा तो कान पकड़कर इस बात को स्वीकार कीजिए और मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दीजिए.

मालूम हो कि पिछले 12 घंटे के दौरान बिहार में पांच लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. हत्या की ये घटनाएं पटना, जमुई, मुजफ्फरपुर समेत अन्य जिलों में हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 18, 2019, 1:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर