लाइव टीवी

बदरुद्दीन के बयान पर बोले BJP सांसद- 'यह देश अल्लाह के नूर से नहीं संविधान के नूर से चलता है'

News18 Bihar
Updated: October 29, 2019, 4:10 PM IST
बदरुद्दीन के बयान पर बोले BJP सांसद- 'यह देश अल्लाह के नूर से नहीं संविधान के नूर से चलता है'
एआईयूडीएफ के प्रमुख अजमल के बयान पर बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने पलटवार किया है.

राज्यसभा सांसद ने कहा कि बदरुद्दीन अजमल 'ग्रो मोर चिल्ड्रन' के सिद्धांत पर चल रहे हैं. इसके तहत जनसंख्या के संतुलन को धर्म के हस्तक्षेप के कारण बिगाड़ना होता है. अजमल मुस्लिम समुदाय की महिलाओं को बच्चा पैदा करने की फैक्ट्री समझ रहे हैं.

  • Share this:
पटना. असम में जनसंख्या नियंत्रण के लिए की जा रही पहल पर टिप्पटणी करते हुए ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के प्रमुख और सांसद बदरुद्दीन अजमल (Badaruddin ajmal) ने शनिवार को कहा था कि मुस्लिम बच्चे पैदा करते रहेंगे और वे किसी की नहीं सुनेंगे. उनके इस बयान पर देश में जनसंख्या विस्फोट की स्थिति पर नई बहस छेड़ दी है. इस मामले में बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की तीखी टिप्पणी के बाद बीजेपी के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा (Rakesh sinha) ने भी पलटवार किया है. बीजेपी सांसद (BJP MP) ने कहा कि यह देश अल्लाह के नूर से नहीं संविधान के नूर से चलता है.

राज्यसभा सांसद ने कहा कि बदरुद्दीन अजमल 'ग्रो मोर चिल्ड्रन' के सिद्धांत पर चल रहे हैं. इसके तहत जनसंख्या के संतुलन को धर्म के हस्तक्षेप के कारण बिगाड़ना होता है. अजमल मुस्लिम समुदाय की महिलाओं को बच्चा पैदा करने की फैक्ट्री समझ रहे हैं. राकेश सिन्हा ने टू चाइल्ड नॉर्म को समय की जरूरत बताते हुए कहा कि लगातार बढ़ रही जनसंख्या को रोकने के लिए कानून बनाने की जरूरत है.

बता दें कि इससे पहले गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर असम सरकार की पहल की सराहना करते हुए कहा कि बढ़ती जनसंख्या देश की समरसता के लिए विस्फोटक समस्या बन गई है.

गिरिराज सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, बदरुद्दीन अजमल की नजर में हिंदुस्तान में इस्लाम सिर्फ बच्चा पैदा करने की फैक्ट्री है. क्या ईरान इंडोनेशिया मलेशिया इत्यादि अन्य देश में इस्लाम नहीं जिन्होंने जनसंख्या नियंत्रण के लिए कारगर उपाय किए हैं??


Loading...



गिरिराज सिंह ने इससे लगातार दूसरा ट्वीट भी किया. इसमें उन्होंनेजनसंख्या नियंत्रण की नीति लेकर आने के लिए  असम सरकार को धन्यवाद दिया. गिरिराज सिंह ने ट्वीट में लिखा,  1951 में जनसंख्या 36 करोड़ थी जो अब 137 करोड़ हो गई. हर साल 2 करोड़ की जनसंख्या वृद्धि हो रही है. असम सरकार को धन्यवाद देता हूं कि जो काम हिंदुस्तान में बहुत पहले हो जाना चाहिए थे उन्होंने वो कर दिखाया. विस्फोटक जनसंख्या संसाधन, विकास एवं सामाजिक समरसता के लिए विस्फोटक समस्या बन गई है.



वहीं एनडीए में शामिल जेडीयू की इस मामले पर अलग राय है. पार्टी के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने बदरुद्दीन अजमल और गिरिराज सिंह के बयान पर कहा कि जनसंख्या नियंत्रण किसी जाति, धर्म , मजहब के आधार पर लागू करने का प्रयास नहीं करना चाहिए. न किसी मत को मानने वाले व्यक्तियों को लगे कि उनके विरुद्ध है. हालांकि उन्होंने कहा कि बदरुद्दीन अजमल या दूसरे को भी इस तरह का बयान नहीं देना चाहिए.

इनपुट- अमितेश

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 4:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...