लोकसभा में गूंजा बिहार विधानसभा अध्यक्ष को बंधक बनाने का मामला, विधायकों की सदस्यता रद्द करने की मांग

बिहार विधानसभा में हुए हंगामे पर लोकसभा में चर्चा करते भाजपा सांसद संजय जायसवाल

बिहार विधानसभा में हुए हंगामे पर लोकसभा में चर्चा करते भाजपा सांसद संजय जायसवाल

Bihar Assembly Ruckus: बिहार में मंगलवार को विधानसभा में विपक्षी विधायकों ने जमकर हंगामा मचाया था और विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा को उनके कक्ष में ही बंधक बना लिया था, जिसके बाद पुलिस को बुलाना पड़ा था.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा में विपक्षी दलों द्वारा मचाए गए उपद्रव की गूंज लोकसभा (Loksabha) में भी सुनाई पड़ी. बुधवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) ने इस मुद्दे को संसद में उठाते हुए कहा कि सदन में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार होता है. सत्ता दल और विपक्ष आपस में विवाद और बहस भी करते हैं, लेकिन कभी भी आसन पर कोई बात नहीं होती है. उन्‍होंने कहा कि यह मामला बिहार विधानसभा अध्यक्ष से जुड़ा हुआ है, इसलिए यहां पर उठाने के लिए मजबूर हूं.

संजय जायसवाल ने कहा कि आज तक कभी भी ऐसा नहीं हुआ है कि विधानसभा अध्यक्ष को उसके कमरे में बंद कर दिया जाए, उनके दरवाजे पर रस्सी बांध दी जाए और सारे लोग घेर लें. उन्होंने बताया कि बार-बार घोषणा हो रही थी कि विधानसभा की कार्यवाही के लिए स्पीकर आएं, लेकिन उनको जाने नहीं दिया गया और चार बार कार्यवाही स्थगित करनी पड़ गई.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बिल पर विरोध करने का सभी को अधिकार है, पर आज तक भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में कभी भी ऐसा नहीं हुआ था कि विधानसभा के अध्यक्ष को उसके कमरे में बंधक बना दिया गया हो. आरोपी विधायकों पर कार्रवाई करने की मांग करते हुए डॉ. जायसवाल ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष से मैं अपील करना चाहूंगा कि सभी विधानसभा अध्यक्षों की बैठक बुलाएं और जो भी विधायक इस तरह के कार्य में संलिप्त हैं, जिन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को बंधक बनाने का काम किया है, उन सभी पर कार्रवाई की जाए. ऐसे विधायकों को निष्कासित किया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज