लाइव टीवी

कानून-व्यवस्था पर BJP सांसद ने उठाए सवाल, बोले- बिहार पुलिस नहीं लिखती FIR

News18 Bihar
Updated: December 6, 2019, 12:46 PM IST
कानून-व्यवस्था पर BJP सांसद ने उठाए सवाल, बोले- बिहार पुलिस नहीं लिखती FIR
बिहार के औरंगाबाद से बीजेपी के सांसद सुशील कुमार सिंह ने पुलिस की उदासीनता पर सवाल उठाए हैं.

औरंगाबाद से बीजेपी सांसद सुशील कुमार सिंह ने बिहार की क़ानून व्यवस्था पर गुस्सा जाहिर करते हुए रेप की घटनाओं पर पुलिस की उदासीनता को लेकर सवाल उठाया है.

  • Share this:
पटना. बिहार में हाल में रेप की घटनाओं में लगातार इजाफा हुआ है. गैंग रेप (Gang Rape) जैसी वारदातों का बढ़ना और उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल (Viral) करने के मामले भी लगातार सामने आए हैं. हाल में बक्सर (Buxer) में एक युवती के साथ कथित तौर पर बलात्कार (Rape) के बाद गोली मार दी गई फिर उसे जला दिया गया था. इसी तरह की घटना समस्तीपुर (Samastipur) से भी सामने आई जहां विवाहित महिला के साथ कथित तौर पर दुष्कर्म किया गया और उसे जलाकर मार दिया गया. ऐसी घटनाओं में बढ़ोतरी से आहत बीजेपी सांसद (BJP MP) ने कानून-व्यवस्था के मामले में बिहार सरकार पर सवाल उठाया है.


औरंगाबाद से बीजेपी सांसद सुशील कुमार सिंह ने बिहार की क़ानून व्यवस्था पर गुस्सा जाहिर करते हुए

रेप की घटनाओं पर पुलिस की उदासीनता को लेकर सवाल उठाया है. उन्होंने अपने औरंगाबाद संसदीय क्षेत्र में गया जिले के इमामगंज थाने में 11 अक्टूबर को हुई रेप की घटना का संदर्भ देते हुए कहा कि


11 अक्टूबर को एक बच्ची के साथ घटना घटी जिसके बाद पीड़ित लड़की 2-2 बार थाने गयी, लेकिन फिर भी  प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई.


30 नवंबर को हमने वरीय पुलिस अधीक्षक को अनुशंसा की है और फोन पर बात की उसके बाद
अब प्राथमिकी तो दर्ज हुई है, लेकिन थानाध्यक्ष निलंबित नहीं हुआ है. बीजेपी सांसद ने कहा, ऐसी घटनाओं से लोगों का कानून से विश्वास घटेगा. उन्होंने पुलिस को भी कठघरे में खड़ा करते हुए कहा, जब तक पुलिस कर्तव्य के प्रति  ज़िम्मेदार नहीं होगी तबतक ऐसी घटनाएं होती रहेंगी.


बीजेपी सांसद की इस खरी-खोटी के बाद विरोधी एक बार फिर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर हो गए हैं. कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने बिहार में रेप की घटना पर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा जब बीजेपी के सांसद सुशील कुमार सिंह बोल रहे हैं तो आप समझ सकते हैं कि बिहार में कानून-व्यवस्था का क्या हाल है.




कांग्रेस की पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने रेपिस्टों की दया याचिका नहीं होने के लिए कानून में संशोधन की मांग की.



रंजीत रंजन ने कहा कि शर्म आती है जब मुजफ्फपुर की बालिका गृह कांड में सरकार दोषियों को बचाने की कोशिश कर रही थीं. उन्होंने कहा, बिहार में क़ानून व्यवस्था का हाल सबसे बुरा है. यहां एफआइआर तक दर्ज नहीं होती. बीजेपी सांसद के संज्ञान के बाद भी थाना प्रभारी को निलंबित नहीं किया गया.


उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार में जंगलराज से भी बुरा हाल है. बीजेपी-जेडीयू के सुशासन में कुशासन है.

बिहार की आपराधिक घटना और रेप की घटना पर विपक्षी आरएलएसपी ने कहा कि, सार्वजनिक मंच से सीएम ने कई बार प्रशासन को लताड़ लगाई है फिर भी प्रशासन अगर सीएम की बात नहीं सुनता है तोभगवान भरोसे ही बिहार में सरकार चल रही है.


बहरहाल फिलहाल इस मुद्दे पर सियासत तेज़ है, लेकिन बेहतर क़ानून-व्यवस्था के नाम पर सत्ता में आए नीतीश कुमार के लिए ये घटनाएं परेशान करने वाली हैं. जिसका जवाब देना उनके और उनकी पार्टी के लिए मुश्किल हो रहा है.


ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 12:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर