Bihar Assembly Elections: महिलाओं को अपने पाले में करने के लिए BJP ने बनाया मास्टरप्लान!
Patna News in Hindi

Bihar Assembly Elections: महिलाओं को अपने पाले में करने के लिए BJP ने बनाया मास्टरप्लान!
महिला मतदाताओं पर बीजेपी की नजर. प्रतीकात्मक फोटो)

चुनाव (Election) की तैयारियों को लेकर नए-नए प्रयोग करना बीजेपी (BJP) की खासियत रही है. हर चुनाव में वह कुछ ऐसा काम करती है जिससे वोटरों में पार्टी के प्रति खिंचाव हो सके.

  • Share this:
पटना. बूथ लेवल मैनेजमेंट (Booth Level Management) में बीजेपी का कोई जोड़ नहीं है यह सिर्फ बातें नहीं है बल्कि बीजेपी (BJP) इसी हिसाब से अपना काम भी करती है. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) को लेकर बीजेपी अभी से हर जाति वर्ग और हर तबके के वोटों को एकजुट करने की तैयारी में जुट गई है. पार्टी की नजर हर बूथ अपनी ताकत बढ़ाने की है. इसी क्रम में जहां बूथ लेवल मैनेजमेंट को ले लेकर रोज नए-नए प्रयोग कर रही है वहीं अब महिला वोटरों को पार्टी से जोड़ने के लिए एक नई शुरुआत की है. दरअसल बीजेपी 'सप्तऋषि' के तर्ज पर 'नारी आत्मनिर्भर' बूथ बनाने जा रही है.

विधानसभा चुनाव में अब चंद महीने ही शेष हैं ऐसे में बीजेपी ने बूथ पर अपनी ताकत बढ़ाने के लिए पहले सप्त ऋषि बनायी, अब उनकी नज़र महिला वोटरों पर है. बीजेपी अब हर बूथ पर नारी आत्मनिर्भर बूथ की शुरुआत करने जा रही है. इसके तहत हर बूथ पर सात सात महिलाओं की टीम होगी जो उस बूथ पर रजिस्टर महिला वोटरों को चिन्हित कर उन्हें बीजेपी को वोट करने के लिए तैयार करेगी. इन पर वोटिंग के दिन भी महिलाओं को घर से निकाल कर बूथ तक लाने की ज़िम्मेदारी होगी.

बीजेपी का ये है नया प्रयोग



चुनाव तैयारी को लेकर नए-नए प्रयोग करना बीजेपी की खासियत रही है हर चुनाव में पार्टी कुछ ऐसा काम करती है जिससे वोटरों में उनके प्रति खिंचाव हो सके और अधिक से अधिक लोगों को पार्टी से जोड़ा जा सके. यही वजह है कि बीजेपी का चुनावी मैनेजमेंट दूसरी पार्टियों से काफी अलग होता है. सप्त ऋषि के बाद बीजेपी की नारी आत्मनिर्भर बूथ की पहल चुनाव की दृष्टि से काफी अहम है और पार्टी ने इसकी ज़िम्मेदारी अपने महिला मोर्चा को सौंपी है.
जमीन पर कितना होगा फायदा?

भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष लाजवंती झा का कहना है कि इस काम को हमलोग प्रमुखता से कर रहे हैं और कोशिश है कि जल्द से जल्द हर बूथ पर सात सात महिलाओं की टीम तैयार कर ली जाए ताकि पार्टी को चुनाव में इसका फायदा मिल सके. गौरतलब है कि अभी जहां एक तरफ बिहार की सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव को लेकर रणनीति ही बना रही हैं, वहीं बीजेपी कई दिनों पहले से विधानसभा वार बैठकें और रैलियां तक शुरू कर चुकी है.  हालांकि इसका जमीन पर कितना फायदा होगा ये तो चुनाव नतीजे के बाद ही साफ हो पाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading