अपना शहर चुनें

States

'कहें तो CBI जांच करवा दें', लालू के वायरल ऑडियो पर भाजपा और राजद आमने-सामने

लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)
लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन (Shahnavaz hussain) ने कहा कि नंबर रिकॉर्ड पर है. इसकी पूरी जांच अब करवाई जानी चाहिए. अगर यह ऑडियो झूठा है तो राजद (RJD) कहे कि इसकी सीबीआई (CBI) से जांच करवा सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2020, 10:03 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा में स्पीकर चुनाव (Speaker election in Bihar assembly) के दौरान कथित रूप से राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) का ऑडियो वायरल होने से सियासत जारी है. इस चुनाव से पहले लालू प्रसाद यादव का कथित ऑडियो बीजेपी ने जारी किया था. ऑडियो में लालू बीजेपी के विधायक ललन पासवान (Lalan Paswan) से बात कर रहे हैं. वह स्पीकर चुनाव में साथ मांग रहे हैं. ऑडियो के मुताबिक साथ देने के बदले मंत्री पद का लालच दिया गया. बीजेपी (BJP) हमलावर है. बुधवार को डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद (Tar kishor Prasad) ने कहा था कि हम झारखंड सरकार (Jharkhand Government) से इसकी जांच की मांग करते हैं, अगर वह सरकार नहीं सुनती है तो फिर हम इसके लिए केंद्र सरकार से भी अपील करेंगे कि इसकी उच्चस्तरीय जांच करवाएंगे.

बिहार में जारी सियासत के बीच कई निजी चैनलों पर इस बात पर डिबेट भी हो रहे हैं. इसी क्रम में एक निजी चैनल से बातचीत के क्रम में राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी राजद और उनके अध्यक्ष को डिफेंड करते हुए अपना पक्ष रख रहे थे तो उनकी परेशानी साफ दिख रही थी. उन्होंने इसी डिबेट में कहा कि कई तरह के ऑडियो टेप वीडियो वायरल होते रहते हैं. इसकी सच्चाई क्या है, कोई इस पर कैसे मुहर लगा सकता है. हम लोग बता रहे हैं कि यह निराधार आरोप है और असली मुद्दे से जनता को भटकाने के लिए है. यह मैनेज मैंडेट की सरकार है. हर वक्त यह डर बना हुआ है कि हमारी सरकार गिर जाएगी.

इसी का जवाब देते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि नंबर रिकॉर्ड पर है. इसकी पूरी जांच अब करवाई जानी चाहिए. अगर यह ऑडियो झूठा है तो राजद कहे कि इसकी सीबीआई से जांच करवा सकते हैं. विधायक को इस तरह के लालच देना कहीं से उचित नहीं है. लालू जी की आवाज को कौन नहीं जानता. सब लोग उनकी आवाज पहचानते हैं. वह कोई ऐसे नेता नहीं है कि जिनको कोई ना जाने. उनको तो सब जानता है. दरअसल राजद को डिफेंड करना आरजेडी के लिए बहुत मुश्किल है. कहिए तो हम सीबीआई जांच ही करवा दें.




बता दें कि बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम व भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ऑडियो जारी करते हुए दावा किया था कि यह ऑडियो लालू प्रसाद यादव और भाजपा विधायक ललन पासवान के बीच फोन पर बातचीत का है. ऑडियो के मुताबिक, विधानसभा स्पीकर के चुनाव से पहले लालू प्रसाद यादव के पीए विधायक पासवान को फोन लगाते हैं और उनका फोन भी पीए ही उठाता है. इसके बाद विधायक और लालू यादव के बीच बात होती है. लालू यादव सबसे पहले बधाई देते हैं और विधायक चरण स्पर्श की बात करते हैं. लालू प्रसाद यादव कहते हैं कि स्पीकर के चुनाव में राजद का साथ देने पर उन्हें मंत्री बनाया जाएगा.



ऑडियो के मुताबिक, इसके बाद विधायक कहते हैं कि पार्टी में हैं तो थोड़ी दिक्कत होगी, इस पर लालू प्रसाद यादव कहते हैं कि बोल दो कोरोना हो गया है और अबसेंट हो जाओ. इसके बाद बातचीत खत्म हो जाती है. सुशील मोदी ने इस ऑडियो को ट्वीट करते वक्त लिखा- 'लालू यादव ने दिखाई अपनी असलियत. लालू प्रसाद यादव द्वारा NDA के विधायक को बिहार विधानसभा अध्यक्ष के लिए होने वाले चुनाव में महागठबंधन के पक्ष में मतदान करने हेतु प्रलोभन देते हुए.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज