बिहारः जनता दरबार में एक साथ पहुंचे सत्ताधारी और विपक्षी दल, समझाएंगे क्या है CAA, NPR व NRC
Patna News in Hindi

बिहारः जनता दरबार में एक साथ पहुंचे सत्ताधारी और विपक्षी दल, समझाएंगे क्या है CAA, NPR व NRC
बिहार में सत्तापक्ष और विपक्ष सीएए, एनपीआर और एनआरसी को लेकर एक साथ अभियान शुरू कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

NPR, CAA और NRC के बारे में बिहार में सत्ता पक्ष और विपक्ष के लोग अपने-अपने हिसाब से लोगों तक जानकारी पहुंचाने के लिए कमर कस चुके हैं. भाजपा (BJP) का अभियान शुरू है, वहीं रविवार से राजद (RJD) और रालोसपा (RLSP) भी इस मैदान में उतर रहे हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) में सत्तापक्ष और विपक्षी दल, एक साथ आम लोगों को राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR), नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Act) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजनशिप (NRC) की जानकारी देंगे. भाजपा (BJP) जहां इसके लिए पहले ही अभियान शुरू कर चुकी है. वहीं, राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (RLSP) भी 5 जनवरी से इसी तरह का मुहिम शुरू करने वाले हैं. भाजपा जहां इन मुद्दों पर जन-जागरण अभियान चला रही है, वहीं विपक्षी दल सीएए (CAA) और एनपीआर के साथ-साथ एनआरसी के संभावित खतरों के बारे में लोगों को आगाह करेंगे. बिहार की विपक्षी पार्टियां जनता को बताएंगी कि कैसे केंद्र सरकार का यह कानून गरीब विरोधी और एक खास संप्रदाय को परेशान करने वाला है.

भाजपा का अभियान
CAA के बारे में लोगों को पूरी जानकारी देने के लिए भाजपा रविवार से जनजागरण अभियान शुरू कर रही है. इसकी औपचारिक शुरुआत देश के गृह मंत्री अमित शाह दिल्ली से करेंगे, वहीं बिहार में इसकी शुरुआत प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल बेतिया से करेंगे. डॉ. जायसवाल रविवार को बेतिया के स्टेशन चौक से सुबह 10 बजे संपर्क अभियान शुरू कर बाद में जनसभा को संबोधित करेंगे. इस बारे में शनिवार को डॉ. जायसवाल ने बताया कि विपक्ष इन मुद्दों पर भ्रम फैला रहा है, इसलिए बीजेपी यह अभियान शुरू कर रही है. प्रदेश अध्यक्ष के अलावा पटना में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी पटना में संपर्क अभियान में भाग लेंगे.

bjp-rlsp-rjd-to-launch-campaign-on-caa-nrc-and-npr-in-bihar-brnk-nodrj | बिहारः जनता दरबार में एक साथ पहुंचे सत्ताधारी और विपक्षी दल, समझाएंगे क्या है CAA, NPR व NRC
रालोसपा प्रमुख 17 जनवरी तक चलाएंगे अभियान.

रालोसपा का अभियान जारी


सीएए, एनआरसी और एनपीआर के बारे में रालोसपा के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा समझो-समझाओ यात्रा कर रहे हैं. उनकी यात्रा 17 जनवरी तक चलेगी. इस दौरान 4 जनवरी को वे अरवल से औरंगाबाद, 6 को सासाराम से आरा, 9 को सीतामढ़ी से मधुबनी, 10 को छपरा से गोपालगंज और 17 जनवरी को मुंगेर से भागलपुर तक की यात्रा करेंगे. इस दौरान कुशवाहा लोगों को केंद्र सरकार के इस गरीब विरोधी कानून के बारे में बताएंगे. इसके अलावा रविवार से उनकी पार्टी प्रदेश के सभी जिलों में कार्यकर्ताओं की कार्यशाला लगाएगी, ताकि वे आमजन को कानून की खामियां समझा सकें. आपको बता दें कि शुक्रवार को कुशवाहा ने सीएम नीतीश कुमार से इस मुद्दे पर विधानमंडल का विशेष सत्र बुलाकर सीएए, एनपीआर और एनआरसी लागू नहीं कराने की भी मांग की थी.

bjp-rlsp-rjd-to-launch-campaign-on-caa-nrc-and-npr-in-bihar-brnk-nodrj | बिहारः जनता दरबार में एक साथ पहुंचे सत्ताधारी और विपक्षी दल, समझाएंगे क्या है CAA, NPR व NRC
राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि पार्टी लोगों को इस कानून की खामियां बताएगी.


राजद का अभियान 5 जनवरी से
राजद भी 5 जनवरी से NPR, CAA और NRC के संभावित खतरे को बताने का अभियान छेड़ेगी. इसके तहत पार्टी बिहार के हर जिले में धरना-प्रदर्शन कर इस कानून का विरोध करेगी. विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सीमांचल के इलाके से अपनी यात्रा शुरू करेंगे. राजद नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि भाजपा की साजिश जनता को मूल मुद्दों से भटकाने की है. लेकिन राजद ऐसा होने नहीं देगी. क्योंकि जब लोग भाजपा की नीति के विरोध में सड़क पर उतरे हैं, तब भाजपा जन-जागरण अभियान चला रही है. राजद ने सवाल किया कि जब भाजपा को पता था कि यह कानून देश को मंजूर नहीं होगा, तो फिर भाजपा अपने एजेंडे के तहत ऐसी नीति पर काम क्यों कर रही है.

bjp-rlsp-rjd-to-launch-campaign-on-caa-nrc-and-npr-in-bihar-brnk-nodrj | बिहारः जनता दरबार में एक साथ पहुंचे सत्ताधारी और विपक्षी दल, समझाएंगे क्या है CAA, NPR व NRC
भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि रालोसपा का बिहार में जनाधार नहीं है.


रालोसपा पर भाजपा ने लगाया आरोप
कांग्रेस के साथ रालोसपा और राजद के एनपीआर, सीएए और एनआरसी के विरोध-प्रदर्शन की योजना पर भाजपा ने प्रहार किया है. पार्टी के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि सबको मालूम है कि अभी एनआरसी का कोई मामला ही नहीं है. जब सीएए से किसी की नागरिकता नहीं जा रही और एनपीआर में किसी को कोई दस्तावेज नहीं देना है, फिर भी तुष्टिकरण की राजनीति के तहत राजद और कांग्रेस अपनी खिसकती जमीन देख बिहार का माहौल खराब कर रहे हैं. आनंद ने उपेंद्र कुशवाहा को लेकर कहा कि रालोसपा का बिहार में जनाधार नहीं है. उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति ने पीएम मोदी की सरकार में शिक्षा मंत्री रहते कुछ नहीं किया, वे अब कांग्रेस और तेजस्वी यादव के पिछलग्गू बनकर चल रहे हैं.

ये भी पढ़ें-

गणतंत्र दिवस पर झांकी रिजेक्ट होने से CM नीतीश नाराज! बोले- 19 जनवरी को दिखाएंगे ताकत

 

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए जानें क्या है लालू यादव का मास्टरप्लान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading