अपना शहर चुनें

States

बिहार: अजफर शमसी को गोली मारने पर गरमाई सियासत, कांग्रेस-RJD बोली- अब तो पद छोड़ दीजिए नीतीश जी

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  (फाइल फोटो)
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

Crime in Bihar: अजफर शमसी (Azfar Shamshi)को गोली मारे जाने के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) से इस्तीफे की मांग करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा कि पहले सिर्फ आम लोगों पर गोली चलाई जाती थी अब तो बीजेपी प्रवक्ता पर दिनदहाड़े गोली चलाई गई है.

  • Share this:
पटना/मुंगेर. बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता अजफर शमसी (BJP State Spokesperson Azfar Shamshi) को अपराधियों द्वारा गोली मारने के मामले में अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं. इस दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि अपराधियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा. वहीं, भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने भी कहा है कि सुशासन में गुंडागर्दी नहीं चलेगी और अपराधी पकड़े जाएंगे. मुंगेर के इवनिंग कॉलेज के पास हुई घटना के बाद बीजेपी प्रवक्ता अजफर शमसी का इलाज पटना के पारस अस्पताल में चल रहा है. उनकी स्थिति फिलहाल स्थिर बताई जा रही है, पर इस मामले को लेकर बिहार की सियासत गरमा गई है. आरजेडी - कांग्रेस (Congress-RJD) ने इस मामले को लेकर सीधे सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को निशाने पर लिया है और उन्हें गृह मंत्री का पद छोड़ने को कहा है.

अजफर शमसी (Azfar Shamshi)को गोली मारे जाने के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) से इस्तीफे की मांग करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा कि पहले सिर्फ आम लोगों पर गोली चलाई जाती थी अब तो बीजेपी प्रवक्ता पर दिनदहाड़े गोली चलाई गई है. इस घटना ने बिहार के लॉ एंड ऑर्डर पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है. ऐसी घटना के बाद नीतीश कुमार को गृह मंत्री के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. वहीं आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि बीजेपी प्रवक्ता को गोली लगने के बाद अब बीजेपी चुप क्यों है. हर दिन किसी न किसी की हत्या हो रही है. ऐसी स्थिति में नीतीश कुमार को एक मिनट भी गृह मंत्री के पद पर बने रहने का अधिकार नहीं है.

बीजेपी ने आरजेडी राज का दिन याद कराया
वहीं, बीजेपी प्रवक्ता को होली लगने के बाद आरजेडी के उठाये गए सवाल पर बीजेपी ने पलटवार करते हुए आरजेडी को अपने शासन के दिन याद करने की सलाह दी है. बीजेपी नेता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि आरजेडी शासन में संगठित अपराध होते थे और अपराधियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त होता था. आज आपसी रंजिश में कुछ कांड हो जाते हैं पर पुलिस प्रशासन सख्ती के साथ पकड़ती भी है. इस मामले में शामिल अपराधी जल्द पकड़े जाएंगे.
एक आरोपी गिरफ्तार, एसपी ने कही यह बात


बता दें कि अजफर शमशी के बेटे असद शमशी के अनुसार उनके पिता का जमालपुर कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य ललन प्रसाद सिंह से विवाद चल रहा था. इसके अलावा आइटीसी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष पद को लेकर भी विवाद था, जिसमें उन्‍हें हत्‍या की धमकियां मिलती रहती थीं. साथ ही पिता का अपने भाई आकिब अख्तर नजवी से दो दशक से विवाद रहा है. कुछ अन्‍य लोगों से भी झगड़ा रहा है. मुंगेर के एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों के अनुसार आरोपित जमालपुर कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य ललन प्रसाद सिंह को गिरफ्तार किया गया है और अन्‍य संदिग्‍धों से भी पूछताछ की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज