लाइव टीवी

बिहार में BJP डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कराना चाहती है चुनाव!
Patna News in Hindi

Brijam Pandey | News18 Bihar
Updated: May 21, 2020, 5:18 PM IST
बिहार में BJP डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कराना चाहती है चुनाव!
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी (Sushil Modi) ने कहा कि आने वाले दिनों में चुनाव डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लड़ा जाएगा. बीजेपी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर सबसे ज्यादा सशक्त है. डिजिटल प्लेटफॉर्म और सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर बीजेपी के फॉलोअर्स अन्य पार्टियों के मुकाबले काफी ज्यादा हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी (Sushil Modi) ने कहा कि आने वाले दिनों में चुनाव डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लड़ा जाएगा. इस विचार पर कई पार्टियों के नेता और कार्यकर्ता सहमति जता रहे हैं जबकि कई पार्टियों में असहमति जताई है. दरअसल बीजेपी (BJP) डिजिटल प्लेटफॉर्म पर सबसे ज्यादा सशक्त है. डिजिटल प्लेटफॉर्म (Digital Platform) और सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर बीजेपी के फॉलोअर्स अन्य पार्टियों के मुकाबले काफी ज्यादा हैं. इसके साथ ही बीजेपी ने बूथ स्तर पर भी अपनी आईटी सेल बना रखी है.

सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर सबसे ज्यादा एक्टिव है बीजेपी

बिहार बीजेपी के पूर्व प्रदेश संयोजक और वर्तमान में मीडिया पैनल के सदस्य मनीष पाण्डेय बताते हैं कि बिहार बीजेपी ने पिछले कई सालों में सोशल मीडिया में काफी मेहनत की है. बिहार के लोग लोग बहुत ज्यादा टेक्नो फ्रैंडली नहीं हैं. इसके बावजूद बीजेपी की बिहार इकाई ने इस माध्यम के जरिये लोगों तक अपनी बात पहुंचाई है. यही वजह है कि ट्विटर पर एक लाख 35 हजार फ़ॉलोअर्स है. फेसबुक पर इसकी संख्या 3 लाख 50 हजार है. पूरे बिहार में बीजेपी अलग-अलग नामों से लगभग 20 हजार व्हाट्सएप ग्रुप चलाती है, जिसमें लाखों लोग जुड़े हुए हैं.



शक्ति केंद्र तक आईटी सेल का हुआ है गठन



बीजेपी हर स्तर पर अपने संगठन को मजबूत करती रही है. अलग अलग मंच मोर्चों के साथ साथ कई अलग-अलग संगठन भी बीजेपी ने बनाए हैं. ऐसे में सबसे निचले स्तर पर बीजेपी का शक्ति केंद्र स्थापित है, जो बूथ स्तर पर भी काम करता है. शक्ति केंद्र पंचायत को कहते हैं. इन शक्ति केंद्रों पर बिहार में लगभग आईटी सेल के 50 हजार सदस्य हैं, जो सोशल मीडिया और डिजिटल प्लेटफॉर्म पर काम करते हैं.

मंडल और विधानसभा में भी सोशल मीडिया के ग्रुप्स

बिहार बीजेपी ने सोशल मीडिया की ताकत को समझते हुए प्रखंड के मंडल तक और विधानसभा क्षेत्र में भी अपनी सोशल मीडिया का विस्तार किया है. बिहार में मंडलों की संख्या 1100 है, जहां फेसबुक और व्हाट्सएप ग्रुप बने हैं और ये बीजेपी के क्रियाकलाप को लोगों तक पहुंचा रहे हैं. वहीं बिहार के 243 विधानसभा क्षेत्रों में भी आईटी सेल काम कर रहा है.

साइबर आर्मी करता है बीजेपी के लिए काम

बीजेपी के आईटी सेल से तो बीजेपी के कार्यकर्ता जुड़े ही हैं. इसके साथ ही वे लोग भी जुड़े हैं जो बीजेपी के सदस्य नहीं है. हालांकि ऐसे लोग बीजेपी के कामों को, बीजेपी के विचारों को अपना समर्थन देते हैं. ये वह लोग हैं जो सोशल मीडिया में बीजेपी के क्रियाकलापों को प्रचारित और प्रसारित करते हैं. बीजेपी इन्हें साइबर आर्मी कहती है. इन साइबर आर्मी की संख्या बिहार में लगभग दो लाख से ज्यादा है, जो बीजेपी के लिए काम करती है.

सोशल मीडिया में नरेंद्र मोदी का मिलता है सहारा

सोशल मीडिया में बीजेपी को अभी सबसे ज्यादा सहारा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मिल रहा है. नरेंद्र मोदी के नाम पर लोग बीजेपी के साथ जुड़ रहे हैं. बीजेपी के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी नरेंद्र मोदी के फैंस की संख्या काफी है. इसका अंदाजा इससे लगता है कि यदि बिहार बीजेपी नरेंद्र मोदी के किसी बयान को अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रसारित करती है तो उसे देखने और पढ़ने वालों की संख्या काफी होती है. ऐसे में बिहार बीजेपी को नरेंद्र मोदी का एक बड़ा सपोर्ट मिल रहा है.

सोशल मीडिया में पार्टी के लिए कैसे होता है काम

फेसबुक , टि्वटर , व्हाट्सएप इन सभी पर बीजेपी से जुड़े सदस्य या फिर साइबर आर्मी के सदस्य बीजेपी के कामकाज को प्रचारित करते हैं. सोशल मीडिया में ग्रुप बनाकर केंद्र सरकार की नीतियां, योजनाएं, पॉलिसी को प्रचारित करते हैं. आजकल कोरोना संकट में कोरोना के पक्ष में किए गए काम को जन जन तक पहुंचाने का काम सोशल मीडिया से किया जा रहा है. सोशल मीडिया के तहत केंद्र सरकार के और राज्य सरकार के कामों को प्रचारित करके लोगों का समर्थन भी जुटाने का काम बीजेपी के आईटी सेल के सदस्य करते हैं और इससे तय होता है कि बीजेपी का जनता में कितना समर्थन है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली से बिहार 4000 हजार में फर्जी पास पर बस से कराते थे यात्रा, दो गिरफ्तार

इस बगीचे में योगी और विवेकानंद आम, एक पेड़ पर 150 ​किस्में उगाने पर हो रहा काम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 5:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading