बिहार चुनाव: Corona के बीच 'कमल कनेक्ट' के जरिए जीत हासिल करेगी BJP, जानें खासियत
Patna News in Hindi

बिहार चुनाव: Corona के बीच 'कमल कनेक्ट' के जरिए जीत हासिल करेगी BJP, जानें खासियत
भाजपा चुनाव की तैयारी में पूरी ताकत के साथ लग गई है.

कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के बीच बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar assembly Elections) होने हैं, जिसके लिए भाजपा 'कमल कनेक्ट ऐप' (Kamal Connect App) का इस्‍तेमाल करने जा रही है, ताकि जनता तक अपनी पहुंच सही तरीके से बनाई जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 7:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस की महामारी (Coronavirus Epidemic) के बीच होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार के साधन भी अलग तरीके के होने वाले हैं. जबकि बीजेपी (BJP) ने प्रचार के नए तरीके पर काम करना शुरू कर दिया है. बीजेपी चुनाव में 'कमल कनेक्ट' (Kamal Connect) का इस्तेमाल करने जा रही है, जो कि एक लो इंटरनेट ऐप है. इसकी खासियत ये है कि यह कम इंटरनेट स्पीड में भी बेहतर तरीके से काम कर सकती है. इस ऐप का बिहार जैसे राज्य में बेहतर इस्तेमाल किया जा सकता है. इसके माध्यम से बीजेपी केंद्र की मोदी सरकार के कामकाम, खास तौर पर बिहार राज्य के लिए किये काम और योजनाओं को इस जरिये लोगों तक पहुंचायेगी. साथ ही बिहार सरकार के पिछले 5 सालों के कामकाज का लेखाजोखा भी इसके माध्यम से लोगों तक पहुंचाया जाएगा.

बहरहाल, कोरोना की वजह से विधानसभा चुनाव प्रचार का तरीका बदला हुआ रहेगा. ऐसे में बड़े बड़े नेताओं की जनसभाओं और उनके भाषणों को इस ऐप के जरिये ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की जाएगी. वहीं, इस ऐप के जरिए भाजपा के सभी कार्यक्रमों और सभाओं से भी लोगों को लगातार जोड़ा जाएगा और इसकी जानकारी दी जाएगी. फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म केवल इस ऐप के माध्यम से जुड़ जाएंगे. यानी इसका दायरा बहुत बड़ा होगा, जिससे डिजिटल प्रचार को बड़े तरीके से बीजेपी चुनाव में धार दे सकेगी.

प्रदेश अध्यक्ष ने कही ये बात
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि इस ऐप का फिलहाल ट्रायल बेसिस पर इस्तेमाल शुरू किया गया है जिसे औपचारिक रूप से जल्द लॉन्‍च कर दिया जाएगा.
ऐप की जरूरत क्यों पड़ी


कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार चुनाव में सभी राजनीतिक पार्टियां डिजिटल अभियान पर ज्यादा ध्यान देने वाली है. चूंकि देश के अन्य राज्यों के मुकाबले सोशल मीडिया की पहुंच बिहार में थोड़ा कम है. इसको ध्यान में रखते हुए बीजेपी इस ‘कमल कनेक्ट’ को ज्यादा तरजीह देने वाली है, क्योंकि ये ऐप कम इंटरनेट स्पीड में भी बेहतर काम कर सकती है.



एक रिपोर्ट के मुताबिक बिहार में 37 फीसदी से भी कम जगहों पर इंटरनेट सुविधाएं उपलब्ध हैं. राज्य में 67.2 मिलियन लोगों के पास मोबाइल फोन है, जिसमें से मात्र 26.8 मिलियन लोगों के पास मोबाइल इंटरनेट है. यानी राज्य में मोबाइल फोन का उपयोग करने वाले एक तिहाई लोगों के पास ही इंटरनेट है, उसमें से आधे लोगों के पास फेसबुक है.


बहरहाल, बिहार में सोशल मीडिया और इंटरनेट के इस्तेमाल को देखते हुए राजनतिक पार्टीयो के सामने डिजिटल माध्यम से चुनाव प्रचार करना बड़ी चुनौती है. ऐसे में बीजेपी लगातार इस मसले पर काम कर रही है कि डिजिटल माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगों तक कैसे पहुच बनाई जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज