Pol-Tricks : आत्मनिर्भर बिहार के लिए बीजेपी लेगी आपके सुझाव, जारी किया टोल-फ्री नंबर

बीजेपी ने टोल-फ्री नंबर 6357171717 जारी किया, जिस पर आप अपनी राय दे सकते हैं.
बीजेपी ने टोल-फ्री नंबर 6357171717 जारी किया, जिस पर आप अपनी राय दे सकते हैं.

आपको बीजेपी (BJP) के टोल-फ्री नंबर पर बस मिस्ड कॉल (missed call) देनी होगी. इसके बाद भाजपा के नेता आपको फोन कर आपकी समस्या और बिहार के विकास से जुड़े प्लान पूछेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 11:17 PM IST
  • Share this:
पटना. अगर आपको सरकार के किसी भी काम से परेशानी है या फिर आप बिहार (Bihar) के विकास (development) के लिए सरकार को सुझाव देना चाहते हैं, तो बीजेपी (BJP) आपके सुझावों को अपने घोषणा पत्र (manifesto) में शामिल करने की तैयारी कर रही है. इसके लिए आपको बीजेपी के टोल-फ्री नंबर (toll free number) पर बस मिस्ड कॉल (missed call) देनी होगी. इसके बाद भाजपा के नेता आपको फोन कर आपकी समस्या और बिहार के विकास से जुड़े प्लान पूछेंगे. फिर उसी के आधार पर बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly elections) के लिए घोषणा पत्र तैयार करेंगे. मतलब यह कि आप जो भी सुझाव देंगे भाजपा उसे अपने घोषणा पत्र में शामिल करेगी और उसी आधार पर चुनाव मैदान में उतरेगी.

जारी किया टोल-फ्री नंबर

रविवार को राजधानी पटना में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने यह जानकारी दी. संजय जायसवाल ने कहा कि बिहार का भविष्य तय करने और आत्मनिर्भर बिहार के लिए जनता से राय लेंगे. इसके लिए रथ के द्वारा नीचे तक जाकर जनता की राय जानेंगे. उन्होंने कहा कि बिहार की जनता को अपनी राय देने के लिए एक नंबर जारी किया गया है. आम लोग 6357171717 पर मिस्ड कॉल दें. फिर हम आपको रिंग कर आपसे सलाह लेंगे.



ये होगा तरीका
भाजपा इस बार आत्मनिर्भर बिहार के नारे के साथ मैदान में है और पार्टी इस बात पर खास फोकस कर रही है कि युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सारी महत्वपूर्ण बातें घोषणा पत्र में शामिल हों. आप इस नंबर पर 6357171717 मिस्ड कॉल कर सकते हैं. इसके बाद अगले दो-तीन दिनों में आपको भाजपा की तरफ से कॉल जाएगी. पार्टी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि लोगों से बात करने के बाद उन्हें मेसेज बॉक्स में एक फॉर्म भेजा जाएगा. फॉर्म भरकर लोग अपना सुझाव दे सकते हैं. जायसवाल का कहना है कि बिहार का भविष्य अगले 5 वर्षों में कैसा हो, इसकी राय पार्टी जनता से लेंगी. उनके सुझाव को घोषणा पत्र में शामिल करने के साथ ही नई सरकार में उसे अमल में लाया जाएगा. बिहार में उद्योग-धंधे को बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज