बिहार चुनाव: BJP दफ्तर में ही घिरे सुशील मोदी, कार्यकर्ताओं के चंगुल से पुलिस ने बचाया, देखें Video

पार्टी कार्यलय के बाहर कार्यकर्ताओं ने सुशील मोदी को इस कदर घेर लिया था कि उन्हें पुलिस की मदद लेनी पड़ी.
पार्टी कार्यलय के बाहर कार्यकर्ताओं ने सुशील मोदी को इस कदर घेर लिया था कि उन्हें पुलिस की मदद लेनी पड़ी.

पटना में BJP पार्टी कार्यालय के बाहर अपने ही कार्यकर्ताओं ने डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) को लखीसराय विधानसभा क्षेत्र के मुद्दे को लेकर घेर लिया. सुशील मोदी भीड़ से इस तरह घिर गए कि उन्हें पुलिस की मदद से बाहर निकाला गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 6:17 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) की तारीखों की घोषणा होने के साथ ही टिकट के लिए नेता और चुनाव की तैयारियों में पटना पुलिस और जिला प्रशासन की टीम फुल एक्शन मोड में है. गौरतलब है कि बिहार में तीन चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं. 10 नवंबर को इसके नतीजे सामने आ जाएंगे. इस चुनाव में टिकट पाने के लिए हर पार्टी में जोड़-तोड़ की राजनीति चल रही है. हर नेता अपनी दावेदारी पेश कर रहा है. ऐसा ही एक नजारा आज डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Deputy CM Sushil Kumar Modi) के सामने आया.

दरअसल, आज पार्टी कार्यालय के बाहर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने डिप्टी सीएम सुशील मोदी को लखीसराय विधानसभा क्षेत्र (Lakhisarai Assembly Constituency) के मुद्दे को लेकर घेर लिया. सुशील मोदी भीड़ से इस तरह घिर गए कि उन्हें पुलिस की मदद से बाहर निकाला गया. घेराव कर रहे कार्यकर्ताओं का कहना था कि लखीसराय विधानसभा सीट पर स्थानीय उम्मीदवार को चुनाव में तरजीह मिलनी चाहिए. ये कार्यकर्ता कुमारी बबीता के समर्थन में आए थे. उनका कहना था कि कुमारी बबीता हम सब के बीच पिछले 25 साल से काम कर रही हैं. लखीसराय सीट से विधानसभा चुनाव के लिए कुमारी बबीता को उम्मीदवार बनाना चाहिए.


पुलिस प्रशासन भी अलर्ट
चुनाव के मद्देनजर पटना पुलिस और जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क हैं. चुनाव के दौरान अगर किसी के पास से 50 हजार से अधिक रकम (Cash) मिलेगी तो उनसे पूछताछ की जाएगी कि रकम कहां से ला रहे हैं और कहां ले जाना है. अगर आपके जवाब से पुलिस संतुष्ट नहीं हुई तो पुलिस इस रकम को जब्त भी कर सकती है. कहीं आपके पास 10 लाख से अधिक रुपए मिले तो पुलिस पूछताछ करेगी ही, साथ ही ये मामला आयकर अधिकारी (Income Tax) के हवाले कर दिया जाएगा.



ब्योरा दें और ले जाएं अपनी रकम
आयकर अधिकारी उनसे इस रकम का पूरा ब्योरा लेंगे, सारा डिटेल्स बताना होगा. दरअसल चुनाव आयोग की गाइडलाइन के अनुसार, पुलिस ऐसा करने जा रही है. पटना समेत सभी शहरों के हर इलाके में अब हरेक वाहन की चेकिंग तेज की जाएगी. इसके लिए पटना जिले में 140 चेक पोस्ट बनाए गए हैं. पटना जिले के लिए कुल 84 फ्लाइंग स्क्वॉयड की टीम की तैनाती की गई है. हर स्क्वॉयड में एक मजिस्ट्रेट, एक पुलिस अफसर और दो जवान रहेंगे. शहरी से लेकर ग्रामीण इलाकों में भी टीम रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज