• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिजली संकट- जानें बिहार में कितनी बड़ी है ये समस्या, कई इलाकों में 9 घंटे तक कट रही बिजली

बिजली संकट- जानें बिहार में कितनी बड़ी है ये समस्या, कई इलाकों में 9 घंटे तक कट रही बिजली

बिहार के कई इलाकों में सात से लेकर नौ घंटे तक बिजली कट रही है (फाइल फोटो)

बिहार के कई इलाकों में सात से लेकर नौ घंटे तक बिजली कट रही है (फाइल फोटो)

Electricity Problem: बिहार में 5 हजार मेगावाट की जगह 3200 मेगावाट मिलने के कारण घण्टो बिजली गुल रह रही है. कोयला के संकट के कारण बिजली की समस्या बिहार के ग्रामीण इलाकों में भी लगातार गंभीर बनी हुई है.

  • Share this:

पटना. बिजली के ग्रामीण इलाकों तक बिजली पहुंचाने के मामले में बिहार (Bihar Power Cut) अग्रणी रहा है. पिछले कुछ सालो में बिजली क्षेत्र में बिहार ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है. सुदूर गांवों तक बिजली पहुंचाने और 20 से 22 घंटो तक बिजली की उपलब्धता ने नया मुकाम हासिल किया है पर पिछले कुछ दिनों में बिजली की समस्या खड़ी हो गई है.

बिहार को मिल रही आधी बिजली

देशव्यापी कोयले के संकट के कारण बिहार में भी बिजली की बड़ी समस्या खड़ी हो गई है. इन दिनों बिहार के ग्रामीण इलाकों में 7 से 9 घंटो तक लोड शेडिंग हो रहा है. बिहार को केंद्रीय सेक्टर से लगभग आधी बिजली मिल रही है जिसने परेशानियां बढ़ा दी है. जानकारी के मुताबिक एनटीपीसी से बिहार को 4500 मेगावाट बिजली मिलनी है जबकि बिहार को सिर्फ 3000 मेगावाट बिजली ही मिल रही है. बिहार खुले बाजार से 1000 हजार मेगावाट खरीद रहा है पर यह जरूरत को पूरा करने में अक्षम साबित हो रहा है. दो निजी कंपनियों से करार के अनुसार बिहार को 688 मेगावाट बिजली मिलने की बात है पर फिलहाल 347 मेगावाट ही बिजली मिल पा रही है.

बिहार की क्या है स्थिति

एनटीपीसी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार में कोयले का संकट नहीं होने दिया जाएगा. बिहार में 10 दिनों का पर्याप्त कोयले की उपलब्धता है. गौरतलब है कि बिजली कंपनियों द्वारा बिहार में बिजली का उत्पादन नहीं होता बल्कि केंद्रीय बिजली उत्पादन करने वाली कंपनियों से खरीदकर उपभोक्ताओं को दी जाती है.

बिहार के ग्रामीण इलाकों में ज्यादा बढ़ी समस्या

बिहार के बड़े शहरों में फिलहाल बिजली की स्थिति ठीक रखी गई है पर सुदूर ग्रामीण इलाकों में लोड शेडिंग की समस्या गंभीर हुई है. जिलों की बात करें तो मुंगेर को 60 मेगावाट, बांका को 70 मेगावाट, सीमांचल में कटिहार को 80 मेगावाट, किशनगंज को 20 मेगावाट, पूर्णियां को 100 मेगावाट, अररिया को 100 मेगावाट और मुज़फ़्फ़रपुर को 70 मेगावाट बिजली ही मिल पा रही है. कम बिजली मिलने के कारण 7 से 9 घंटो तक बिजली कट रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज