Home /News /bihar /

बिहार पंचायत चुनाव में वोटिंग करा रहे शिक्षक की मौत, परिजन बोले-सीने में दर्द के बावजूद नहीं दी छुट्टी

बिहार पंचायत चुनाव में वोटिंग करा रहे शिक्षक की मौत, परिजन बोले-सीने में दर्द के बावजूद नहीं दी छुट्टी

पटना से सटे बिहटा में पंचायत चुनाव कराने गए शिक्षक की मौत (फाइल फोटो)

पटना से सटे बिहटा में पंचायत चुनाव कराने गए शिक्षक की मौत (फाइल फोटो)

Death Of Teacher Conducting Panchayat Elections: बुधवार को शिक्षक की मौत से नाराज परिवारवालों और दोस्तों ने सड़क को जाम कर दिया, ये सभी आरोपी बीडीओ पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे. मृतक की पहचान दोघड़ा निवासी सुदर्शन प्रसाद के रूप में हुई है, जो पालीगंज विद्यालय में शिक्षक थे.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बुधवार को बिहार में हुए पंचायत चुनाव के दौरान एक शिक्षक की मौत हो गई. घटना राजधानी पटना से सटे दानापुर की है, जहां बिहटा में वोटिंग के दौरान ही चुनावकर्मी ने ऑन ड्यूटी दम तोड़ दिया. शिक्षक की मौत के बाद आक्रोशित शिक्षक संघ एवं परिजनों ने मुआवजे की मांग को लेकर के बिहटा औरंगाबाद मुख्य सड़क को जाम कर हंगामा कर दिया.

दुखद पहलू ये है कि मृतक अपनी बच्ची पूजा कुमारी की शादी के लिए पूरी तैयारी कर चुके थे. उनकी बेटी का तिलक 27 नवंबर को जबकि 4 दिसम्बर को बारात आने वाली थी. शादी की सभी प्रकार से तैयारियां हो चुकी थी और शादी में आनेवाले रिश्तेदार भी जुटने लगे थे. शिक्षकों का कहना है कि बार-बार बीडीओ से छुट्टी मांगने के बाद भी छुट्टी नहीं दिए जाने की वजह से इनकी मौत हुई है, इसलिए बीडीओ को बर्खास्त किया जाए और साथ ही 50 लाख का मुआवजा सरकार तत्काल दे.

तबियत खराब थी, मांगने पर भी छुट्टी नहीं मिली

शिक्षक के साथी और परिवार के लोगों ने बताया कि ड्यूटी में तैनात शिक्षक बार-बार अपने बीमार होने और सीने और पेट में दर्द की शिकायत कर रहे थे तो उस पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया यही वजह है कि इनकी परेशानी और बढ़ गई और इनकी मौत हो गई. शिक्षक ने जब इस मामले में बीडीओ से गुहार लगाई तो उन्होंने यहां तक कह दिया कि पूरा काम समाप्त नहीं हो जाता, तब तक छुट्टी नहीं दी जाएगी. शिक्षक के साथ गए मतदान कर्मी इसी बात से गुस्सा हैं कि छुट्टी आखिर क्यों नहीं दी गई.

परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

मृतक मतदान कर्मी की पहचान दोघड़ा निवासी सुदर्शन प्रसाद के रूप में हुई है जो पालीगंज विद्यालय में शिक्षक का कार्य कर रहे थे और चुनावी कार्य से बिहटा में आए थे. परिवार के लोगों ने बताया कि वो पिछले तीन दिनों से लगातार काम में जुटे हुए थे और पिछले कुछ दिनों से ही उनकी तबीयत ठीक नहीं चल रही थी. शिक्षक की ड्यूटी 14 नंबर टेबल पर जामुनापुर पंचायत में लगी थी जहां उनके साथ ये हादसा हुआ. इस घटना के बाद मौके पर पहुंचे परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था.

Tags: Bihar News, Bihar Panchayat Chunaw, Bihar panchayat elections, PATNA NEWS

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर