लाइव टीवी

11 हजार कारोबारियों पर होगी कार्रवाई, टैक्स गड़बड़ी करने वालों पर विभाग हुआ सख्त

News18 Bihar
Updated: January 24, 2020, 11:49 AM IST
11 हजार कारोबारियों पर होगी कार्रवाई, टैक्स गड़बड़ी करने वालों पर विभाग हुआ सख्त
प्रतीकात्मक तस्वीर

जीएसटी (GST) लागू होने के बाद से ही बिहार (Bihar) में कई व्यापारियों द्वारा टैक्स चोरी (Tax evasion) करने का मामला सामने आ रहा है. अब वाणिज्य कर विभाग (Commercial tax department) ने ऐसे लोगों से सख्ती से निपटने के लिए कमर कस ली है.

  • Share this:
पटना. वाणिज्य कर विभाग (Commercial Tax Department Bihar) ने ऐसे 11 हजार व्यापारियों को चिन्हित किया है, जिन्होंने टैक्स जमा करने में गड़बड़ी की है. सूत्रों की माने तो इन सारे व्यापारियों पर जल्द कार्रवाई की जा सकती है. वाणिज्य कर विभाग ने वैट के (VAT) तहत लंबित मामलों के निपटारे के लिए नई योजना की भी घोषणा की है.

दरअसल जीएसटी (GST) लागू होने के बाद से ही बिहार में कई व्यापारियों द्वारा टैक्स चोरी (Tax evasion) करने का मामला सामने आ रहा है. अब वाणिज्य कर विभाग ने ऐसे लोगों से सख्ती से निपटने के लिए कमर कस ली है. वाणिज्य कर विभाग ने आला अधिकारियों की बैठक कर 11 हजार व्यापारियों को चिन्हित भी कर लिया है, जिन्होंने टैक्स जमा करने में कोताही की है. इन सभी 11 हजार व्यापारियों पर वाणिज्य कर विभाग ने कार्रवाई करने का मन बना लिया है.

मामलों के निपटारे के लिए समाधान योजना
ऐसे मामले जो वैट के तहत व्यापारियों की टालमटोल के चलते काफी दिनों से लंबित चल रहे हैं, उनके समाधान के लिए वाणिज्य कर विभाग ने एकमुश्त समाधान योजना की घोषणा की है. अब इन लंबित मामलों में मात्र 35 प्रतिशत राशि देकर पूरे मामले का निपटारा कराया जा सकता है. वाणिज्य कर विभाग की सचिव डॉ प्रतिमा ने बताया कि जीएसटी सर्वर में गड़बड़ी होने से जीएसटी फाइल होने में आ रही समस्याओं का समाधान भी किया जा रहा है.

commercial tax department bihar
11 हजार व्यापारियों पर वाणिज्य कर विभाग ने कार्रवाई करने का मन बना लिया


दिसम्बर 2019 तक 13 हजार व्यापारियों का निबंधन रद्द
डॉ प्रतिमा ने बताया कि पिछले 6 महीने से अधिक समय से रिटर्न फाइल नहीं करने वालों के रजिस्ट्रेशन रद्द करने की कार्रवाई शुरू की गई है. दिसम्बर तक बिहार में 13 हजार व्यापारियों के निबंधन रद्द किए गए हैं और रिटर्न फाइल नहीं करने वाले 58502 व्यापारियों को चिन्हित किया गया है. वाणिज्य कर विभाग की सचिव डॉ प्रतिमा ने बताया कि पिछले साल की अपेक्षा इस साल 13 प्रतिशत जीएसटी ज्यादा जमा हुआ है जो निर्धारित लक्ष्य का 93 फीसदी है.ये भी पढ़ें- इंदिरा गांधी की दिखाई राह पर चल कर सत्ता में वापसी का प्रयास करेगी प्रियंका की कांग्रेस !


...तो क्या JDU में साइडलाइन कर दिए गए प्रशांत किशोर और पवन वर्मा!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 7:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर