EC का ऐलान, रामविलास पासवान के निधन से रिक्त राज्यसभा सीट पर 14 दिसंबर को होगा उपचुनाव

राज्यसभा में राम विलास पासवान लोजपा के इकलौते सदस्य थे.
राज्यसभा में राम विलास पासवान लोजपा के इकलौते सदस्य थे.

भारतीय निर्वाचन आयोग ( Election Commission) ने रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के निधन के कारण रिक्त हुई राज्यसभा (Rajya Sabha) सीट पर 14 दिसंबर को उपचुनाव कराने का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2020, 1:03 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली/पटना. भारतीय निर्वाचन आयोग ( Election Commission) ने गुरुवार को लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के नेता रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के निधन के कारण रिक्त हुई राज्यसभा (Rajya Sabha) सीट के लिए होने वाले उपचुनाव का ऐलान कर दिया है. इस राज्‍यसभा सीट के लिए 14 दिसंबर को उपचुनाव होगा. बिहार से ऊपरी सदन के सदस्य के तौर पर पासवान का कार्यकाल अप्रैल 2024 तक था, लेकिन उनका 8 अक्टूबर को निधन हो गया.

ऐसा रहेगा शेड्यूल
राज्‍यसभा उपचुनाव के लिए अधिसूचना 26 नवंबर को जारी होगी. जबकि 3 नवंबर को नामांकन दाखिल होगा और 4 नवंबर को उसकी जांच होगी. वहीं, 5 नवंबर तक नामांकन वापस लिया जा सकेगा. इसके बाद 14 दिसंबर को सुबह 9 से शाम 4 बजे तक मतदान होगा और फिर चुनाव का परिणाम घोषित किया जाएगा.

भाजपा ने की थी राम विलास पासवान को पेशकश
राम विलास पासवान पिछले साल राज्यसभा उपचुनाव जीते थे. राजग के घटक भाजपा ने लोक जनशक्ति पार्टी के नेता को इस सीट की पेशकश की थी. जबकि केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद के 2019 के लोकसभा चुनाव जीतने और उनके निचले सदन में जाने के बाद यह सीट रिक्त हुई थी. आपको बता दें कि राज्यसभा में राम विलास पासवान लोजपा के इकलौते सदस्य थे.



आठ बार रहे लोकसभा के सांसद
मौसम विज्ञानी कहे जाने वाले रामविलास पासवान आठ बार लोकसभा के सांसद रह चुके थे और फिलहाल वह राज्यसभा के सांसद थे. पहली बार वह 1977 में हाजीपुर लोकसभा सीट से जनता पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर लोकसभा पहुंचे थे. इसके बाद वह 1980, 1989, 1996 और 1998, 1999, 2004, और 2014 में लोकसभा सदस्य के तौर पर देश की संसद पहुंचे.

पासवान ने दो शादियां की थीं. उनकी पहली पत्नी राजकुमारी देवी के साथ उनका रिश्ता 1969 से 1981 तक रहा. 1982 में उन्होंने रीना शर्मा से शादी की. पासवान के परिवार में उनकी पहली पत्नी से दो बेटियां उषा और आशा पासवान व दूसरी पत्नी से बेटा चिराग पासवान और और एक बेटी हैं. पासवान ने 2014 में नामांकन पत्र को चुनौती दिए जाने के बाद इस बात का खुलासा किया था कि उन्होंने 1981 में अपनी पहली पत्नी राजकुमारी देवी को तलाक दे दिया था जिनसे उन्हें दो बेटियां ऊषा और आशा थीं. पासवान ने 1982 में एयरहोस्टेस रीना शर्मा से शादी की थी जिनसे उन्हें एक बेटा चिराग पासवान और एक बेटी हैं.



यूपीए सरकार में भी रहे केंद्रीय मंत्री
सन् 2000 में रामविलास पासवान ने जनता पार्टी से अलग होकर लोक जनशक्ति पार्टी का गठन किया. 2004 में वह तत्कालीन सत्तारूढ़ यूपीए में शामिल हो गए. पासवान को तब केंद्रीय रासायनिक और उर्वरक मंत्री और स्टील मंत्री बनाया गया. पासवान ने 2004 का चुनाव तो जीता लेकिन वह 2009 में हार गए. 2010 से 2014 तक राज्यसभा सांसद रहने के बाद वह एक बार फिर से 2014 में हाजीपुर सीट से लोकसभा सांसद के तौर पर चुने गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज