Home /News /bihar /

नीतीश के मंत्री का तर्क- गरीब मुसलमानों के घर ही ज्यादा बच्चे होते हैं पैदा

नीतीश के मंत्री का तर्क- गरीब मुसलमानों के घर ही ज्यादा बच्चे होते हैं पैदा

मंत्री अब्दुल गफूूर

मंत्री अब्दुल गफूूर

    बिहार सरकार के मंत्री मुसलमानों की गरीबी और अशिक्षा को उनकी जनसंख्या में हो रही बढ़ोतरी का एक मात्र  कारण मानते हैं.

    हम बात कर रहे हैं नीतीश कैबिनेट में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री अब्दुल गफ़ूर की.  सोमवार को एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे मंत्री ने जनसंख्या और मुसलमानों की फैमिली प्लानिंग के संदर्भ में अजीब-अजीब दलीलें दी. इस दौरान उन्होंने तर्क के पीछे कुरान, पैगंबर जैसै शब्दों को भी जोड़ा.

    गफूर ने दो बच्चों के सवाल पर तर्क देते हुए कहा कि ग़रीबी और शिक्षा के अभाव से ही गरीब मुसलमान ज़्यादा बच्चे पैदा कर रहे हैं ऐसे में अगर ग़रीबी ख़त्म कर दी जाए तो बेशक मुसलमानों के घर भी बच्चे कम पैदा होने लगेंगे.

    गफूर ने कहा कि ये सर्वे करने का विषय है क्योंकि अगर आप खुशहाल और अमीर मुसलमानों के घर जायेंगे तो उनके घर आपको एक से दो या बमुश्किल तीन ही बच्चे मिलेंगे लेकिन गरीब मुसलमानों के इलाके में जाते ही संख्या बढ़ जायेगी.

    फैमिली प्लानिंग के सवाल पर गफूर ने कहा कि जो पढ़े लिखे लोग हैं चाहे वो किसी भी धर्म में हों इस बात को समझते हैं लेकिन गरीब तबका अब भी ये समझता है कि ऑपरेशन से कमजोरी होती है और दूसरा उन्हें ऑपरेशन कराने की फुर्सत नहीं होती इस कारण वो इन सब चीजों और फैमिली प्लानिंग से आज भी दूर भागते हैं.

    मंत्री अब्दुल गफ़ूर ने कहा कि चुकि बीजेपी के पास कोई चुनावी मुद्दा नहीं है ऐसे में यूपी चुनाव को लेकर ही लगातार संप्रदायिक बयान दिये जा रहे हैं लेकिन बीजेपी नेता ये जान लें कि यूपी मेें एक भी मुस्लिम उन्हें वोट नहीं देगा.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर