Home /News /bihar /

cbi raids on lalu yadav rabri devi bases shivanand tiwari linked with nitish kumar tejashwi yadav closeness brvj

लालू-राबड़ी के ठिकानों पर CBI Raids: शिवानंद तिवारी ने निकाला नया सियासी कोण, नीतीश-तेजस्वी से ऐसे जोड़ा

शिवानंद तिवारी ने राबड़ी-लालू आवास पर सीबीआई रेड को नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की नजदीकी से जोड़ा.

शिवानंद तिवारी ने राबड़ी-लालू आवास पर सीबीआई रेड को नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की नजदीकी से जोड़ा.

CBI raid on Rabri Devi's house: शिवानंद तिवारी ने सोशल मीडिया में पोस्ट लिखा है जिसे हम हूबहू आपके सामने रख रहे हैं.राबड़ी देवी के आवास सहित लालू यादव से जुड़े अन्य स्थानों पर सीबीआई की छापेमारी कहीं नीतीश कुमार को चेतावनी तो नहीं है. जातीय जनगणना के मुद्दे पर नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच बढ़ती हुई नज़दीकी भाजपा को असहज कर रही है!

अधिक पढ़ें ...

पटना. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी को आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने बिहार की सियासत से जोड़ दिया है. शिवानंद तिवारी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखते हुए यह माना है कि हाल के दिनों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की नजदीकी बढ़ी है. उन्होंने सीबीआई की छापेमारी पर सवाल उठाते हुए कहा है कि- आरआरबी भर्ती घोटाले के इस पुराने मामले में अभी हुई छापेमारी कहीं नीतीश कुमार को चेतावनी तो नहीं?

शिवानंद तिवारी ने यह भी कहा है कि नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच बढ़ती नजदीकी बीजेपी के लिए असहज स्थिति पैदा कर रही है.यह साफ है कि जातीय जनगणना पर तेजस्वी और नीतीश दोनों नजदीक आए हैं और आरएसएस जातीय जनगणना के खिलाफ है. जातीय जनगणना से सबकुछ सामने आ जायेगा सामने. शिवानंद तिवारी ने सवाल उठाया है कि पुराने मामले में सोई हुई सीबीआई अचानक कैसे जाग गई?

इसको लेकर शिवानंद तिवारी ने सोशल मीडिया में पोस्ट लिखा है जिसे हम हूबहू आपके सामने रख रहे हैं.

राबड़ी देवी के आवास सहित लालू यादव से जुड़े अन्य स्थानों पर सीबीआई की छापेमारी कहीं नीतीश कुमार को चेतावनी तो नहीं है. जातीय जनगणना के मुद्दे पर नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच बढ़ती हुई नज़दीकी भाजपा को असहज कर रही है! छापेमारी के समय का चयन तो इसी ओर इशारा कर रहा है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जातीय जनगणना के विरुद्ध है.

शिवानंद तिवारी ने आगे लिखा,

जातीय जनगणना से यह सामने आ जाएगा किनकी कितनी संख्या है और उसके अनुपात में देश के संसाधनों का कौन कितना उपभोग कर रहा है. यह जानकारी बहुसंख्यक आबादी जो वंचित है उसमें साधनों के बंटवारे की सशक्त और वैध मांग उठ सकती है. अन्यथा इतने पुराने मामले में अब तक नींद में सोई सीबीआई अचानक कैसे जाग गई! वह भी जब नीतीश कुमार जातीय जनगणना के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने जा रहे हैं. लेकिन, ऐसी कार्रवाई के द्वारा सच को कब तक दबा कर रखा जा सकता है?

बता दें कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाल यादव और उनकी बेटी के खिलाफ सीबीआई ने भर्तियों में कथित अनियमितताओं के लिए नए सिरे से केस दर्ज किया है. भ्रष्टाचार के इस मामले में कार्रवाई करते हुए सीबीआई की टीम शुक्रवार को पटना में लालू आवास (राबड़ी देवी आवास) समेत उनके 15 अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की है. इस छापे मारी पर शिवानंद तिवारी का बयान आया है.

Tags: CBI Raid, Lalu Prasad Yadav, Rabri Devi, S

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर