पटना समेत इन जिलों में 31 मार्च तक CCTV लगाना हुआ अनिवार्य, निगम से लेकर थाना तक को मिला टास्क

पटना में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा के लिए बुलाई गई बैठक में अधिकारी

पटना में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा के लिए बुलाई गई बैठक में अधिकारी

Patna CCTV Guideline: हाल के दिनों में पटना समेत राज्य के अलग-अलग हिस्सों में अपराध की कई बड़ी वारदातें हुई हैं जिसमें इंडिगो के मैनेजर रूपेश कुमार सिंह हत्याकांड भी शामिल है. इस केस की गुत्थी सुलझाने में भी सीसीटीवी अहम कड़ी साबित हुई थी.

  • Share this:
पटना. लगातार बढ़ते अपराध पर लगाम लगाने के लिए सरकार जहां प्रयासरत है और पुलिस पेट्रोलिंग में सख्ती बरतने का निर्देश जारी कर रही है वहीं तीसरी आंख यानी सीसीटीवी (CCTV) का भी हर जगह सहारा लिया जाएगा. पटना प्रमंडल के सभी जिलों में आवासीय परिसर, अपार्टमेंट, कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स, बैंक ,पेट्रोल पंप में सीसीटीवी लगाने को लेकर एक बार फिर निर्देश दिया गया है.

प्रमंडलीय आयुक्त संजय अग्रवाल ने आईजी, डीएम, एसएसपी, सिटी एसपी, ट्रैफिक एसपी के साथ समीक्षा बैठक की और निर्देश दिया है कि हर हाल में 31 मार्च तक सभी लक्षित संस्थानों और जगहों पर सीसीटीवी लगाना होगा. आयुक्त ने कहा कि सीसीटीवी के माध्यम से अपराध की घटनाओं का त्वरित रूप में प्रमाणिक, पारदर्शी और प्रभावी अनुसंधान संभव हो पाता है तथा मामलों का तेज गति में सही समय पर उद्भेदन हो जाता है, ऐसे में अपार्टमेंट, कामर्शियल कॉम्पलेक्स, बैंक, ज्वेलरी शॉप, पेट्रोल पंप एवं अस्पतालों में सीसीटीवी लगाना अनिवार्य है.

समीक्षा बैठक में पता चला कि प्रमंडल स्तर पर अब तक 16808 सीसीटीवी का इंस्टॉलेशन किया जा चुका है, इसमें से 15122 अपार्टमेंट, 1345 मॉल , 341 थाना में सीसीटीवी लगाए जा चुके हैं. आयुक्त ने सभी जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक,पुलिस अधीक्षक और नगर आयुक्त को को सीसीटीवी के क्रियाशील रहने एवं सही लोकेशन के संबंध में थानावार जांच कराने का निर्देश दिया साथ ही प्रत्येक माह सीसीटीवी कैमरे की समीक्षा करने एवं मॉनिटरिंग कर प्रगति लाने का निर्देश दिया.

सजंय अग्रवाल ने सभी डीएम-एसपी को थाना/ओपी में लगे सीसीटीवी की प्रगति के बारे में अनुमंडलवार पुलिस उपाधीक्षक के साथ बैठक करने तथा समीक्षा कर प्रगति लाने का निर्देश दिया।वहीं  थाना/ओपी पर पूर्व से अधिष्ठापित सीसीटीवी के कार्यरत/अकार्यरत की स्थिति की भी लगातार मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया।इस दौरान नगर आयुक्त को प्रत्येक थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्थिति अपार्टमेंट एवं कमर्शियल कंपलेक्स की सूची तैयार करने तथा अविलंब उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.
बैठक में अधिकारियों ने कहा कि सीसीटीवी अपार्टमेंट में रहने वाले लोगों तथा आसपास की सुरक्षा के लिए अत्यंत आवश्यक है. कई बार वहां फ्लैट मालिकों के द्वारा शिकायतें की जाती है कि अपार्टमेंट में सुरक्षा के सही इंतजाम नहीं हैं इसलिए अपार्टमेंट के प्रवेश द्वार, निकासी द्वार, सीढ़ी लिफ्ट के पास, पार्किंग ,प्रत्येक फ्लोर पर तथा गेट पर बाहर की ओर लोकेशन के साथ सीसीटीवी लगाना आवश्यक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज