लाइव टीवी

आज से 36 घंटे के निर्जला उपवास पर रहेंगी छठ व्रती, रविवार को उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ होगा पर्व संपन्न

News18 Bihar
Updated: November 1, 2019, 8:58 AM IST
आज से 36 घंटे के निर्जला उपवास पर रहेंगी छठ व्रती, रविवार को उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ होगा पर्व संपन्न
आज से 36 घंटे का निर्जला उपवास रखेंगी व्रतियां

रविवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही छठ व्रत संपन्न हो जाएगा और छठव्रती अन्न-जल ग्रहण करेंगे.

  • Share this:
पटना. लोक आस्था का महापर्व छठ (Chhath) गुरुवार से नहाय-खाय के विधि-विधान के साथ शुरू हो चुका है. दूसरे दिन आज यानी शुक्रवार को खरना पर भगवान भास्कर (सूर्य) को भोग लगाने के बाद 36 घंटे का निर्जला उपवास (Fasting) शुरू होगा. इस दिन को लोक मान्यताओं में खरना के नाम से जाना जाता है. इसके प्रसाद में चावल, चने की दाल, पूरी, गन्ने का रस या गुड़ से बनी रसिया जैसी चीजें बनाई जाती हैं. गोधूली बेला (सूर्यास्त से पहले का पहर) में भगवान सूर्य के प्रतिरूप को लकड़ी की पाटिया पर स्थापित करने के बाद पारंपरिक रूप से पूजा-अर्चना की जाती है.

खरना के साथ शुरू होगा छठ व्रतियों का कठिन उपवास
पूजा के अंत में भगवान को सभी प्रसाद का भोग लगाया जाता है और फिर सभी लोग प्रसाद को सामूहिक रूप से ग्रहण करते हैं. इससे साथ ही छठ व्रतियों का निर्जला उपवास शुरू हो जाता है. रविवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही छठ व्रत संपन्न हो जाएगा और छठव्रती अन्न-जल ग्रहण करेंगे.

परिजनों की मंगलकामना के लिए कठिन व्रत 

बता दें कि किसी भी अनहोनी से अपनी संतान और परिजनों को सलामत रखने की मंगलकामना के साथ महिलाएं ये निर्जला व्रत रखती हैं. इससे पहले गुरुवार को अनुष्ठान के पहले दिन नहाय-खाय पर छठव्रतियों ने कद्दू-भात बनाकर अपने परिवारजनों के साथ प्रसाद ग्रहण किया.
छठ व्रतियों को न हो कोई परेशानी- सीएम नीतीश

गुरुवार को ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्टीमर से दानापुर के नासरीगंज से पटना सिटी के कंगन घाट तक गंगा घाटों पर सफाई, सुरक्षा और स्वच्छता के इंतजाम का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने छठव्रतियों के आने-जाने के लिए सुगम रास्ते का प्रबंध करने के साथ-साथ पार्किंग की व्यवस्था और घाटों तक ठीक ढंग से बैरिकेडिंग करने का आदेश दिया.

Loading...


मुख्यमंत्री ने छठ पूजा की दी बधाई 
सीएम नीतीश कुमार ने छठ पर प्रदेश और देशवासियों को बधाई दी है. कहा है कि लोक आस्था का यह महापर्व आत्म अनुशासन का पर्व है, जिसमें लोग आत्मिक शुद्धि और निर्मल मन से अस्ताचल और उदीयमान सूर्य को अर्घ देते हैं.

मुख्यमंत्री ने छठ पर भगवान भास्कर से राज्य की प्रगति, सुख, समृद्धि, शांति और सौहार्द के लिए प्रार्थना की. उन्होंने राज्यवासियों से अपील की कि वो इस पर्व को आपसी प्रेम, पारस्परिक सद्भाव और शांति के साथ मनाएं.

ये भी पढ़ें-


Chhath puja 2019: छठ पूजा के दौरान जरूर करें ये 10 काम, पूरी होगी हर मनोकामना

सोशल मीडिया पर शेयर करें छठ के ये खास Messages, दोस्तों को दे बधाइयां


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 7:29 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...