लाइव टीवी

क्‍या पटना के गंगा घाट पर इस बार मनेगा छठ पर्व!

चंद्रमोहन | News18 Bihar
Updated: October 22, 2019, 4:48 PM IST
क्‍या पटना के गंगा घाट पर इस बार मनेगा छठ पर्व!
पटना के गंगा घाट पर चार फीट तक जमी है सिल्‍ट.

छठ पूजा (Chhath Puja) में सिर्फ दस दिन बचे हैं और बिहार की राजधानी पटना (Patna) के गंगा घाट (Ganga Ghat) की अब तक सफाई नहीं हो पाई है. हालांकि यहां सफाई का काम जारी है, लेकिन चार फीट तक जमी गाद (सिल्ट) चुनौती बन गई है. यही वजह है कि इस बार पटनावासियों को महापर्व पर परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

  • Share this:
पटना. बिहार की राजधानी पटना (Patna) के गंगा घाट (Ganga Ghat) पर इस बार लोगों के लिए छठ पूजा (Chhath Puja) करना आसान नहीं होगा. जी हां, इस साल ज्यादा पानी आने से घाटों पर 4 फीट तक गाद (सिल्ट) जम गई है, लिहाजा अन्दर तक जाने वाले रास्ते बंद हो गए हैं. हालांकि फिलहाल इसे हटाने का काम जारी है, लेकिन छठ पूजा में सिर्फ दस दिन बचे हैं और ऐसे में घाटों की सफाई करना आसान नहीं होगा. जबकि गंगा का जलस्तर भी कम नहीं हो रहा है. यकीनन यह पटनावासियों के लिए एक बड़ी परेशानी साबित होने वाला है.

डीएम ने दिए ये आदेश
बिहार के महापर्व छठ पूजा में सिर्फ दस दिन बचे हैं. इस पर्व पर लाखों लोग पटना के गंगा घाट पर पहुंच कर पहले दिन डूबते और दूसरे दिन उगते सूर्य को अर्ध देते हैं. यानी गंगा के किनारे पूजा पाठ करते हैं. इस बार घाटों को देखकर यही लग रहा है पटना के लोगों के लिए गंगा किनारे जाकर पूजा करना आसान नहीं होगा. दरअसल, इस बार जलस्तर बढ़ने से पटना के गंगा घाटों का रूप ही बदल गया है. पटना कलकट्रीएट समेत कई घाटों पर चार फिट से ज्यादा सिल्ट जम गई है, तो वहीं गंगा के अन्दर जाने के लिए रास्ते पर तीन से चार फिट गाद और बालू है. सच कहा जाए तो गाद हटाना प्रशासन के लिए बडी चुनौती है. अगर यह गाद नहीं हटी तो पटना के घाटों पर छठ का अर्घ देना मुश्किल हो जाएगा. पटना के डीएम कुमार रवि आज निरिक्षण करने पहुंचे थे. उन्‍होंने ठेकेदारों और अधिकारियों को कई आदेश दिए हैं.

पटना के डीएम कुमार रवि आज निरिक्षण करने पहुंचे


प्रशासन की नजर में 80 घाट हैं खतरनाक
पटना के शहरी इलाके में तकरीबन 150 घाट हैं, जहां लाखों की संख्या में लोग छठ पूजा करते हैं. इस बार गाद जमा होने की वजह 80 घाटों को खतरनाक घोषित कर दिया गया है. ऐसे में वक्त की नजाकत को देखते हुए पटना जिला प्रशासन ने शहर के अन्दर भी वैकल्पिक व्यवस्था करनी शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें-
Loading...

कभी बिहार के इस जिले में गरजती थीं बंदूकें अब PM नरेंद्र मोदी के हाथों एक साथ मिलेगा तीन अवार्ड

बिहार की राजनीति के एक्शन सीन से 'इन' और 'आउट' हैं ये राजनेता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 4:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...