कोरोना को लेकर पटना हाईकोर्ट में आज चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ करेगी अहम सुनवाई

पटना हाईकोर्ट ने कोरोना के इलाज को लेकर नीतीश सरकार से सवाल पूछे हैं (फाइल फोटो)

पटना हाईकोर्ट ने कोरोना के इलाज को लेकर नीतीश सरकार से सवाल पूछे हैं (फाइल फोटो)

Patna High Court Corona Hearing: कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए ऑक्सीजन टैंकर की उपलब्धता पर केंद्र सरकार से जवाब-तलब किया था साथ ही अस्पतालों में करोना मरीज के इलाज की व्यवस्था का भी ब्यौरा मांगा था.

  • Share this:

पटना. बिहार में जारी कोरोना महामारी और लॉकडाउन (Bihar Lockdown) के बीच पटना हाईकोर्ट में कोरोना महामारी के मामले पर आज अहम सुनवाई होनी है. ये सुनवाई गुरुवार को दोपहर ढ़ाई बजे होगी. हाईकोर्ट (Patna High Court) में कोरोना से जुड़ी जनहित याचिकाओं पर चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ सुनवाई कर रही है. कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए ऑक्सीजन टैंकर के उपलब्धता पर राज्य सरकार से जवाब तलब किया था.

कोर्ट ने अस्पतालों में कोरोना मरीज के इलाज की व्यवस्था का ब्यौरा मांगा था साथ ही कोरोना टेस्टिंग किट के डिस्पोजल के बारे में भी जानकारी देने का निर्देश दिया था. सरकार को ये सारी रिपोर्ट आज ही देनी है. इस केस पर दोपहर ढ़ाई बजे के बाद फिर सुनवाई शुरु की जाएगी. मालूम हो कि पटना हाईकोर्ट ने राज्य में बेकाबू हो चुके कोरोना को लेकर सरकार से कई सवाल पूछे थे साथ ही मंशा पर भी प्रश्न उठाए थे.

पटना हाईकोर्ट राज्य में करोना महामारी के बिगड़ते हालात पर लगातार सुनवाई कर रही है. जस्टिस सी एस सिंह की खंडपीठ ने इन जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते राज्य की स्वास्थ्य सेवा को सुधारने के लिए कई आदेश राज्य सरकार को दिए थे साथ ही ऑक्सीजन की आपूर्ति, बेड की संख्या बढ़ाने, दवाओं की उपलब्धता बनाए रखने के लिए लगातार आदेश दिया था लेकिन राज्य सरकार ने ठोस कदम नहीं उठाया.

कोर्ट ने राज्य सरकार के क्रियाकलापों पर कड़ी नाराजगी जताते हुए राज्य सरकार के पूर्णतः असफल बताया था. कोर्ट ने राज्य की स्वास्थ्य सेवा की स्थिति पर गहरा असंतोष जाहिर करते हुए टिप्पणी की थी कि ऐसे हालत में स्वास्थ्य सेवा को सेना को सौंप देना चाहिए. राज्य सरकार ने कोर्ट को बताया था कि पूरे राज्य में 5 मई से 15 मई, 2021 तक लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज