बिहार: वैध रहेंगे TET और STET सर्टिफिकेट्स, 32 हजार शिक्षकों की जल्द होगी नियुक्ति

शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने बताया कि एक अप्रैल से सभी पंचायतों में उच्च माध्यमिक विद्यालयों में वर्ग 9 तक की पढ़ाई होगी और जुलाई से सभी हाई स्कूलों में स्मार्ट क्लास लागू किया जाएगा.

News18 Bihar
Updated: June 1, 2019, 2:58 PM IST
बिहार: वैध रहेंगे TET और STET सर्टिफिकेट्स, 32 हजार शिक्षकों की जल्द होगी नियुक्ति
शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में सीएम नीतीश कुमार
News18 Bihar
Updated: June 1, 2019, 2:58 PM IST
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में पटना के संवाद भवन में शिक्षा विभाग की की अहम बैठक हुई. दो घंटे से अधिक देर तक चली इस बैठक में उन्होंने विभाग के काम-काज की समीक्षा की और कई महत्वपूर्ण निर्णय भी लिए. बैठक खत्म होने के बाद शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने मीडिया को जानकारी दी कि मुख्यमंत्री के आदेश से TET और STET सर्टिफिकेट की वैधता खत्म नहीं होगी. ये सभी सर्टिफिकेट वैध रहेंगे. बता दें कि यह 31 मई तक ही वैध थे.

बैठक में शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, शिक्षा विभाग अपर मुख्य सचिव आरके महाजन, बीएसईबी अध्यक्ष आनंद किशोर भी मौजूद थे. मीटिंग के बाद मीडिया ब्रीफिंग में जानकारी दी गई कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अगले वर्ष  एक अप्रैल से सभी पंचायतों में उच्च माध्यमिक विद्यालयों में वर्ग 9 तक की पढ़ाई होगी.

ये भी पढ़ें- सीएम नीतीश के करीबी नेता बोले- BJP की पॉलिसी के साथ एडजस्ट नहीं करती JDU

इसके साथ ही यह भी कहा गया है बांका के बाद राज्य में जुलाई से सभी हाई स्कूल में स्मार्ट क्लास रूम को लागू किया जाएगा. शिक्षा में गुणवत्ता में सुधार के लिए रेगुलर स्कूलों का इंस्पेक्शन होगा. इसके लिए मोबाइल ऐप के माध्यम से भी इंस्पेक्शन किया जाएगा. वहीं यह भी बताया गया कि अनुपस्थित रहनेवाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

आनंद किशोर ने बताया कि बेहतर और समय पर रिजल्ट जारी को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने निर्देश दिए. इसके तहत अब आनेवाले समय में सभी 2 करोड़ कॉपियों में परीक्षार्थी के फोटो और नाम रहेंगे. अब ऑनलाइन ग्रांट वितरण सिस्टम लागू होगा और  पूरी प्रक्रिया को तेज किया जाएगा.

उन्होंने बताया कि एफिलिएशन ग्रांट को भी ऑनलाइन किया जाएगा. डीईओ का इंस्पेक्शन भी ऑनलाइन होगा.  सभी 9 प्रमंडल का उद्घाटन सीएम अगस्त महीने में करेंगे.

बीएसईबी का क्षेत्रीय केंद्र बनकर तैयार हो गया है. आधुनिक आवश्यकताओं के मद्देनजर एक्ट में परिवर्तन की आवश्यकता महसूस हुई. बीएसईबी अधिनियम 2019 में लागू किया जाएगा और सभी तकनीकी अधिनियम लागू होगा. साथ ही पुराने एक्ट में बदलाव भी किया जाएगा.
Loading...

ये भी पढ़ें-  केसी त्यागी का दावा- विधानसभा चुनाव में विपक्ष को 18 सीटों से आगे नहीं बढ़ने देंगे

आनंद किशोर ने बताया कि जून महीने में विशेष अभियान चलाया जाएगा इसके तहत बच्चों के खातों में ऑनलाइन पैसा जाएगा. 3000 ऐसे विद्यालय हैं जहां स्कूल के लिए जमीन नहीं मिली. ऐसे स्कूलों में मिडिल स्कूल को ही अपग्रेड कर 9वीं क्लास का संचालन करेंगे.  2 कमरे अलग से बनाये जाएंगे.

उन्होंने बताया कि जून में शिक्षक बहाली का कैलेंडर होगा लागू किया जाएगा.  माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों की बहाली होगी, 160 स्कूलों के अधूरे कार्य को इसी साल पूरा किया जाएगा.

स्कूलों में गांधी जी की कहानी को लेकर शिक्षकों को ट्रेनिग दी जाएगी. जिसमें उनकी जीवनी और कहानी बताई जाएगी.

उन्होंने बताया कि हाई स्कूलों में 32 हजार पद खाली हैं जिनके लिए  नियोजित शिक्षक बहाल होंगे जो 60 साल तक काम करेंगे. इसी के साथ कम्प्यूटर शिक्षकों की सरकार बहाली करेगी.

रिपोर्ट- रजनीश कुमार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 1, 2019, 2:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...