होम /न्यूज /बिहार /चिराग पासवान का दावा- बिहार में जल्द होंगे मध्यावधि चुनाव, कहा- RJD-JDU में विरोधाभास

चिराग पासवान का दावा- बिहार में जल्द होंगे मध्यावधि चुनाव, कहा- RJD-JDU में विरोधाभास

राजगीर प्रशिक्षण शिविर में LJPR के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए चिराग पासवान.

राजगीर प्रशिक्षण शिविर में LJPR के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए चिराग पासवान.

Bihar News: नालंदा जिले के राजगीर में चल रहे लोजपा (रामविलास) के प्रशिक्षण शिविर में चिराग पासवान ने अपने कार्यकर्ताओं ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

मुझे मंत्री बनना होता तो नीतीश कुमार की गलत नीतियों के साथ समझौता कर लिया होता-चिराग.
चिराग ने कहा, रामविलास पासवान जी के सपने वाला बिहार बनाने की दिशा में काम कर रहा हूं.

नालंदा. लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास गुट के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने एक बार फिर दावा किया है कि बिहार में शीघ्र ही मध्यावधि चुनाव होंगे क्योंकि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार अधिक दिनों तक नहीं चल पाएगी. लोजपा रामविलास गुट के कार्यकर्ताओं के राजगीर में चल रहे प्रशिक्षण शिविर के अंतिम दिन उन्होंने कहा कि राजद और जदयू के नेताओं के हाल के दिए बयानों से ही साफ हो रहा है कि दोनों ही दलों में काफी विरोधाभास है.

नालंदा जिले के राजगीर में चल रहे प्रशिक्षण शिविर में चिराग पासवान ने इस बात को भी साफ किया कि वे किस खेमे में नजर आएंगे. इस चर्चा पर उन्होंने कहा, अभी किसी दल के साथ मेरी पार्टी का गठबंधन नहीं है. लोकसभा के चुनाव के वक्त गठबंधन होगा. वर्तमान में हम अकेले चल रहे हैं और जनता के हित में काम कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि मंत्री बनने की इच्छा नहीं नहीं है. बनना होता तो 2020 में ही बन गया होता.

लोजपा रामविलास के अध्यक्ष ने कहा, मुझे मंत्री बनना होता तो 2020 में नीतीश कुमार की गलत नीतियों के साथ समझौता कर लिया होता तो आज मैं भी केंद्र में मंत्री होता. हमारे दल के दो तीन मंत्री बिहार सरकार में होते. लेकिन, मैं अपने नेता रामविलास पासवान जी से कभी नजरें नहीं मिला पाता अगर नीतीश कुमार की गलत नीतियों के साथ समझौता कर लिया होता.

चिराग पासवान ने कहा कि मेरे चाचा (पशुपति कुमार पारस) ने मेरी पीठ में खंजर भोंका है अब कभी भी उनके साथ या उनके साथ वाले गठबंधन का हिस्सा नहीं बनूंगा. चिराग पासवान ने कहा कि रामविलास पासवान जी के सपने वाला बिहार बनाने की दिशा में मैं काम कर रहा हूं. जनता का आशीर्वाद मिलता रहा तो बहुत जल्द उनके सपने वाला बिहार बनाऊंगा और बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट को पूरा करूंगा.

चिराग पासवान ने आगे कहा कि बिहार में मौत का तांडव अपराधियों द्वारा रचा जा रहा है. बेगूसराय शूटआउट जैसी घटना कभी हमलोगों ने नहीं सुनी थी. बेखौफ अपराधियों का इतना मनोबल नहीं देखा था. चिराग ने सवाल पूछा, ये जंगल राज शब्द किसने दिया? मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसी शब्द की बदौलत सत्ता पर काबिज हुए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिस जंगलराज को कोसते थे आज उन्हीं के साथ डबल जंगल राज ले आए.

चिराग ने कहा, नीतीश कुमार को डर था कि BJP उनकी पार्टी में तोड़फोड़ करेगी. इस डर से वो महागठबंधन में चले गए. मगर हमलोगों को अपना ध्यान अपनी पार्टी और बिहार की जनता पर देना है. चिराग पासवान और LJPR एक ऐसे नेता के आदर्श पर चल रहे हैं जिन्होंने बिहार की जनता के लिए सत्ता को ठुकरा दिया था. LJPR की यह सोच आज की नहीं है, शुरू से है. रामविलास पासवान अगर नीतियों से समझौता कर लिए होते तो 2005 में मुख्यमंत्री बन गए होते. वो लोग लड़ रहे हैं राज करने के लिए, हमलोग लड़ रहे हैं बिहार पर नाज करने के लिए.

Tags: Bihar politics, Chirag Paswan, CM Nitish Kumar, Mahagathbandhan

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें