सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर नीतीश कुमार की सभा हो सकती है, LJP की नहीं- चिराग पासवान
Patna News in Hindi

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर नीतीश कुमार की सभा हो सकती है, LJP की नहीं- चिराग पासवान
चिराग पासवान और सीएम नीतीश कुमार. File Photo

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) तय समय पर करवाने के लिए चुनाव आयोग (Election Commission) के नए गाइडलाइंस पर लोजपा (LJP) सुप्रीमो चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने नाराजगी जताई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2020, 1:33 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) ऐसे समय में होने जा रहा है जब कोरोना संकट (COVID-19 Crisis) और गहरा गया है. इसी बीच चुनाव आयोग (Election Commission) ने कहा है कि वह राजनीतिक दलों के सुझावों के आधार पर जल्दी ही विस्तृत गाइडलाइन जारी करेगा, जिससे कोरोनाकाल में सुरक्षित चुनाव करवाया जा सके. निर्वाचन आयोग ने चुनाव होने वाले राज्यों के चुनाव अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया है कि कोरोना संकट को देखते हुए स्थानीय परिस्थितियों के मुताबिक चुनाव के दौरान विस्तृत योजना बनाएं.

इस बीच चुनाव आयोग द्वारा चुनाव के दौरान सभी पार्टियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सभा करने की छूट देने पर लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने प्रतिक्रिया दी है. चिराग पासवान ने कहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर केवल नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की सभा हो सकती है, लोजपा की नहीं.

लोजपा सांसद ने कहा कि बीते 15 अगस्त को पार्टी कार्यालय में बैठक करने और जमुई में लोगों से मिलने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने में मुश्किल हो रही थी. चिराग ने कहा कि लोजपा की सभाओं में भीड़ उमड़ती है. ऐसे में चुनावी बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ चुनावी बैठक करने में मुश्किल पेश आएगी. गौरतलब है कि लोजपा पहले से ही बिहार में विधानसभा चुनाव कराने के पक्ष में नहीं है. पार्टी की ओर से कोरोना और बाढ़ के कारण पहले लोगों को राहत देने की बात कही जा रही है.



बता दें कि कोरोना संकट के बीच होने वाले आगामी चुनावों को लेकर मंगलवार को चुनाव आयोग में बैठक हुई, जिसमें आयोग ने राजनीतिक दलों की ओर से भेजे गए सुझावों पर विचार किया. साथ ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य चुनाव अधिकारियों की ओर से भेजे गए सुझावों पर भी विचार किया गया. आपको बता दें कि पहले भी बिहार के कई दलों ने कोरोना संकट को देखते हुए विधानसभा चुनाव न कराने की सलाह निर्वाचन आयोग को दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज