Home /News /bihar /

chirag paswan say bjp and jdu are searching for their own eknath shinde

...तो बिहार में किसको है अपने-अपने 'एकनाथ शिंदे' की तलाश? जानें क्‍या बोले चिराग पासवान

चिराग पासवान ने भाजपा और जदयू पर एक साथ हमला बोला है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

चिराग पासवान ने भाजपा और जदयू पर एक साथ हमला बोला है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार के खिलाफ बगावत के बाद अब बिहार में भी सियासी हमले तेज हो गए हैं. लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के प्रमुख चिराग पासवान ने भाजपा और जदयू पर हमला बोला है. चिराग ने कहा कि भाजपा और जदयू दोनों को अपने एकनाथ शिंदे की तलाश है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार की राजनीति को महाराष्ट्र के घटनाक्रम से जोड़ते हुए चिराग पासवान ने भाजपा और जदयू को निशाने पर लिया है. उन्होंने कहा कि भाजपा और जदयू को अपने एकनाथ शिंदे की तलाश है. चिराग ने आरोप लगाया कि भाजपा और जदयू दोनों ही दल केवल राज्य में सत्ता के लिए गठबंधन में बने हुए हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि वैचारिक मुद्दों पर भाजपा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने आत्मसमर्पण कर रही है.

जमुई से युवा सांसद चिराग ने आरोप लगाया कि एआईएमआईएम के 4 विधायकों के राजद में जाने के पीछे नीतीश कुमार की ही साजिश है. उन्होंने कहा कि भाजपा की ताकत कम करने के लिए नीतीश ने ऐसा किया. चिराग ने कहा कि ओवैसी की पार्टी के विधायक जदयू के संपर्क में थे. उन्‍होंने कहा कि बिहार में बहुत कम उपस्थिति के चलते उनका खुद की पार्टी में कोई भविष्य नहीं था, लेकिन सीएम की पार्टी में शामिल होने के बजाय वे राजद में शामिल हो गए. इस घटनाक्रम के पीछे नीतीश कुमार का हाथ था, क्योंकि अब राजद ने भाजपा से सबसे बड़ी पार्टी का दर्जा छीन लिया है.

चिराग पासवान ने भी माना बिहार में NDA मतलब नीतीश कुमार, कहा- CM जल्दी गठबंधन में करेंगे बदलाव 

पासवान को थी भाजपा की मौन स्वीकृति.!

एनआरसी से लेकर जाति जनगणना तक एलजेपी ने अपने भागीदार एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ा था. जदयू के नेताओं के एक वर्ग का मानना है कि पासवान को भाजपा की मौन स्वीकृति थी, जो मुख्यमंत्री की पार्टी की तुलना में कहीं बेहतर प्रदर्शन के साथ लौटी. केंद्रीय मंत्रिमंडल में पारस को जगह देने के बाद चिराग पासवान को बीजेपी ने बीच में छोड़ दिया. अब लगता है कि उन्होंने भगवा पार्टी की प्रशंसा करनी छोड़ दी है. यह दावा करते हुए कि उनके पिता, जो उस समय मृत्युशय्या पर थे, अकेले जाने के लिए प्रेरित हुए थे, पासवान ने हालांकि यह स्पष्ट किया कि वह मध्यावधि विधानसभा चुनाव या 2024 के लोकसभा चुनाव में से जो भी पहले हुआ वे एक गठबंधन या दूसरे का हिस्सा होंगे.

राजद ने किया था चिराग को लुभाने का प्रयास

एनडीए से उनके बाहर निकलने के बाद से राजद द्वारा चिराग पासवान को लुभाने के कई प्रयास किए गए हैं, जो उनके विकल्पों के तौर पर दिख रहे हैं. पासवान ने यह भी खुलासा किया कि उनके दिवंगत पिता की एक प्रतिमा का अनावरण 5 जुलाई को उनकी जयंती पर हाजीपुर में किया जाएगा, जो लोकसभा क्षेत्र रामविलास पासवान का पर्याय बन गया था. यह पूछे जाने पर कि क्या पारस को समारोह में आमंत्रित किया गया है, उन्होंने जवाब दिया, बेशक! क्‍योंकि वह स्थानीय सांसद हैं.

Tags: Bihar News, Chirag Paswan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर