लाइव टीवी

चिराग पासवान को मिली LJP की कमान, मार्गदर्शक बने रहेंगे पिता रामविलास

Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: November 5, 2019, 4:17 PM IST
चिराग पासवान को मिली LJP की कमान, मार्गदर्शक बने रहेंगे पिता रामविलास
चिराग पासवान बिहार के जमुई से लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद हैं.

चिराग की ताजपोशी का ऐलान करते हुए रामविलास पासवान ने कहा कि हम चाहते हैं कि अगली पीढ़ी अपना काम संभाले.

  • Share this:
पटना. बिहार के जमुई से सांसद और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) के बेटे चिराग पासवान (Chirag Paswan) लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए हैं. मंगलवार को दिल्ली में रामविलास पासवान की मौजूदगी में चिराग की ताजपोशी हुई. इससे पहले मंगलवार सुबह पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई जिसके बाद चिराग पासवान की ताजपोशी हुई. इस मौके पर चिराग पासवान ने कहा कि रामविलास पासवान राजनीति में सक्रिय रहेंगे और मैं उनका मार्गदर्शन लेता रहूंगा. उन्होंने कहा कि आज कई राज्यों में हमारी (एनडीए) सरकार है. केंद्र में हमारी सरकार है. चुनाव में हमारा शत-प्रतिशत प्रदर्शन रहा.

चिराग ने उपचुनाव का जिक्र करते हुए कहा कि हाल के संपन्न उपचुनाव में एनडीए का प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं रहा फिर भी एलजेपी को उपचुनाव में जीत मिली और समस्तीपुर (सुरक्षित) सीट से प्रिंस राज चुनाव जीते. चिराग ने कहा कि पार्टी (एलजेपी) की विचारधारा से कभी समझौता नहीं किया गया है और मैं आगे भी पार्टी को नई ऊंचाइयों तक लेकर जाऊंगा.

वहीं चिराग की ताजपोशी का ऐलान करते हुए रामविलास पासवान ने कहा कि हम चाहते हैं कि अगली पीढ़ी अपना काम संभाले.


Loading...

संगठन में भी नहीं होगा फेरबदल
एलजेपी अध्यक्ष ने संगठन के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि संगठन में ज्यादा फेरबदल नहीं होंगे. पहले की तरह ही कार्यकारिणी और अलग-अलग राज्यों के अध्यक्ष काम करते रहेंगे. बता दें कि रामविलास पासवान ने 2014 लोकसभा चुनाव से पहले चिराग को एलजेपी संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी थी, अब इसके पांच साल बाद अब उन्हें नेतृत्व सौंपा जा रहा है.


फिल्म से राजनीति का रुख
बता दें कि चिराग पासवान ने अपनी पहली फिल्म में नाकामी के बाद राजनीति का रुख किया था. चार नवंबर, 2011 को उनकी फिल्म 'मिले ना मिले हम' आई थी लेकिन पर्दे पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा सकी. इसके बाद वर्ष 2013 में चिराग पासवान फिल्मी दुनिया छोड़ कर पूरी तरह राजनीति में सक्रिय हो गए थे. तब चिराग ने आरजेडी-एलजेपी गठबंधन के लोकसभा उपचुनाव के उम्मीदवार प्रभुनाथ सिंह के लिए चुनाव-प्रचार किया था.

बीजेपी के साथ सीटों के तालमेल में भी अहम भूमिका
चिराग पासवान रामविलास पासवान के इकलौते बेटे हैं. वो एलजेपी संसदीय दल के भी अध्यक्ष हैं. 2019 में उन्होंने बिहार की जमुई सीट से दोबारा जीत हासिल की है. यहां उनका मुकाबला आरएलएसपी के प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी से था जिनको हराने में वो सफल रहे थे. बीजेपी के साथ सीटों के तालमेल में भी चिराग की अहम भूमिका रही थी. इस साल हुए लोकसभा चुनाव में भी सीटों के बंटवारे और उम्मीदवारों के चयन में चिराग की अहम भूमिका रही थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 11:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...