Citizenship Amendment Act: पटना में हिंसक प्रदर्शन के मामले में 35 लोगों के खिलाफ नामजद केस

पुलिस ने 35 लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया है. वहीं 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज की गई है.
पुलिस ने 35 लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया है. वहीं 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज की गई है.

पुलिस अधीक्षक विनय कुमार तिवारी (Vinay Kumar Tiwari) ने सोमवार देर शाम बताया कि उक्त मामले में 35 नामजद, 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है और छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

  • Share this:
पटना. नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ पटना में हिंसक प्रदर्शन हुए. प्रदर्शन के दौरान उपद्रवियों द्वारा रविवार देर शाम आगजनी के कई मामले सामने आए हैं. पुलिस ने 35 लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया है. वहीं 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज की गई है. इसके अलावा छह आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया है.

गौरतलब है कि सोमवार को प्रदर्शन के दौरान उपद्रवियों ने पुलिस चौकी और कई मोटरसाइकिल में आगजनी की थी तथा कई सरकारी एवं निजी वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया था. पुलिस अधीक्षक विनय कुमार तिवारी ने सोमवार देर शाम बताया कि उक्त मामले में 35 नामजद, 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है और छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून बनाए जाने के बाद से नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में धीरे-धीरे स्थिति थोड़ी सामान्य होती दिख रही है. गुवाहाटी में लगाए गए कर्फ्यू पर भी ढील दी जा रही है. शनिवार को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक कर्फ्यू पर ढील दी गई.



गौरतलब है कि नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में शुक्रवार को कई जगहों पर हिंसक झड़प भी देखने को मिली थी. हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन ने अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की थी. एडवाइजरी में सभी देशों ने अपने नागरिकों को असम न जाने की सलाह दी गई.
ये भी पढ़ें:

 CAA पर मुखर चिराग ने NRC के मुद्दे से किया 'किनारा'

PM मोदी को पत्र लिखकर नीतीश कुमार ने की पोर्न साइट्स बैन करने की मांग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज